Monday , December 18 2017

जहेज़ में बैतुल-ख़ला का तोहफ़ा

मुंबई

मुंबई

अब जबकि वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान ( पाक-ओ-साफ़ हिन्दुस्तान मुहिम ) ज़ोर-ओ-शोर से जारी है एक नौ ब्याही लड़की ने अपने ससुराल में एक बैतुल-ख़ला की तामीर का इसरार किया है और कहा कि ज़ेवरात और जहेज़ के सामान से ज़्यादा बुनियादी सहूलियात की अशद ज़रूरत है।

ज़िला अकोला में बाला पर तहसील के इंदौरा गाँव‌ में अंजाम पाई शादी की तक़रीब में शरीक मेहमानों ने जहेज़ के साज़-ओ-सामान के साथ एक चीज़ देख कर हैरतज़दा होगए जहां पर घरेलू एशिया-ए-और तहाइफ़ के साथ रेडीमेड टॉयलेट बिशमोल वाश बेसन , क़द आदम आईना और पानी की टांकी रखी हुई थी।

इस गाँव‌ की लड़की चैताली ने ज़िला रेवत महल के लड़के देवेंद्र मकोड से शादी की थी। लड़की ने बताया कि मेरी शादी की तारीख तए होने के बाद पता चला कि मेरे ससुराली मकान में बीत उल-खुला नहीं है जिस पर में ने अपने वालिद और मामूं से एक बीत उल-ख़ला फ़राहम करने की ख़ाहिश की थी जिस की तकमील करदी गई क्योंकि जहेज़ से ज़्यादा बीत उल-ख़ला की अशद ज़रूरत होती है।

TOPPOPULARRECENT