Sunday , December 17 2017

ज़रदारी से मुताल्लिक़ पाकिस्तानी मकतूब पर सूईस हुक्काम का अभी तक कोई रद्द-ए-अमल नहीं

सूईस हुक्काम की जानिब से हकूमत-ए-पाकिस्तान के इस मकतूब पर रद्द-ए-अमल का हनूज़ इंतिज़ार है जिस में सदर आसिफ़ अली ज़रदारी के ख़िलाफ़ रिश्वत के केसों को दुबारा खोलने की दरख़ास्त की गई है, वज़ीर क़ानून फ़ारूक़ नायक ने ये बात कही । उन्हो

सूईस हुक्काम की जानिब से हकूमत-ए-पाकिस्तान के इस मकतूब पर रद्द-ए-अमल का हनूज़ इंतिज़ार है जिस में सदर आसिफ़ अली ज़रदारी के ख़िलाफ़ रिश्वत के केसों को दुबारा खोलने की दरख़ास्त की गई है, वज़ीर क़ानून फ़ारूक़ नायक ने ये बात कही । उन्हों ने कहा कि सदर ज़रदारी के ख़िलाफ़ सूएज़रलैंड में कोई केस नहीं है और एक केस जिस में ज़रदारी को मुल्ज़िम बनाया गया कि उन्हों ने सूईस कंपनियों इस जी इस और कोटेकना को पाकिस्तान में दरआमद की जारही एशिया-के कस़्टम़्स इन्सपैकशन के लिए दीए गए सरकारी कंट्एक्ट से रिश्वत हासिल की , सिर्फ़ तहक़ीक़ाती मरहले में है । हुकूमत ने सुप्रीम कोर्ट की हिदायत पर गुज़श्ता माह मकतूब भेजा था ।

TOPPOPULARRECENT