Thursday , June 21 2018

ज़िमनी इंतिख़ाबात में टी आर ऐस । वाई ऐस आर कांग्रेस में मुफ़ाहमत ?

हैदराबाद 14 दिसमबर ( सियासत न्यूज़ ) किया ज़िमनी इंतिख़ाबात में तेलंगाना राष़्ट्रा समीती और वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी में इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत होगी ?

हैदराबाद 14 दिसमबर ( सियासत न्यूज़ ) किया ज़िमनी इंतिख़ाबात में तेलंगाना राष़्ट्रा समीती और वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी में इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत होगी ? । अगरचे दोनों जमातों कीजानिब से इमकानी मुफ़ाहमत पर तौसीक़ से इनकार किया जा रहा है लेकिन इत्तिलाआत के मुताबिक़ दोनों पार्टीयों के क़ाइदीन इस मसला पर बाहम रब्त में है । जगन के हामी अरकान के ख़िलाफ़ कार्रवाई की सूरत में 17 असम्बली हलक़ों में दुबारा इंतिख़ाबात होंगे इस के इलावा कांग्रेस और तेलगुदेशम से टी आर ऐस में शमूलीयत इख़तियार करने वाले चार अरकान असम्बली की नशिस्तों पर भी ज़िमनी चुनाव होगा । महबूबनगर असम्बली हलक़ा केआज़ाद रुकन असम्बली के इंतिक़ाल के सबब एक नशिस्त ख़ाली हुई है।

अगरचे जगन के हामी अरकान असम्बली में सिर्फ एक का ही ताल्लुक़ तेलंगाना से है लेकिन टी आर ऐसचाहती है कि वाई ऐस आर कांग्रेस से मुफ़ाहमत करते हुए जगन की अवामी मक़बूलियत को अपने हक़ में वोटों में तबदील किया जाय । बताया जाता है कि ज़िमनी इंतिख़ाबात जो कि मणि जनरल इलैक्शन की तरह होंगे ,इस में मुफ़ाहमत के ज़रीया ये दोनों जमातें 2014 के आम इंतिख़ाबात में मुफ़ाहमत की तैय्यारी करेंगे । टी आर ऐस 2004 कांग्रेस और 2009 मैं तेलगुदेशम से इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत करचुकी है । 2014 के इंतिख़ाबात में टी आरऐस इन दोनों जमातों में से किसी से मुफ़ाहमत नहीं करेंगे क्योंकि अलहदा तेलंगाना मसला पर इन जमातों ने अपने मौक़फ़ को तबदील करलिया है ।

बताया जाता है कि जगन मोहन रेड्डी तेलंगाना में अपने क़दम जमाने केलिए टी आर एस का सहारा लेना चाहते हैं क्योंकि अलहदा तेलंगाना मसला पर तन्हा मुक़ाबला की सूरत में उन्हें भी अवामी नाराज़गी का सामना करना पड़ सकता है । बताया जाता है कि दोनों पार्टी के क़ाइदीन आला सतह पर एक दूसरे से रब्त में हैं और इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत के तरीका-ए-कार को क़तईयत दी जा रही है ।बानसवाड़ा असम्बली हलक़ा के हालिया ज़िमनी चुनाव के नतीजा ने टी आर एस को इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत केलिए आमादा किया है क्योंकि पोचारम सरीनवास रेड्डी को तवक़्क़ो के मुताबिक़ अक्सरीयत हासिल नहीं हुई ।

इन हालात को देखते हुए टी आर ऐस ज़िमनी इंतिख़ाबात में कोई ख़तरा मोल लेना नहीं चाहती । सीमा आंधरा से ताल्लुक़ रखने वाले जगन के हामी क़ाइदीन टी आर इससे मुफ़ाहमत के ख़िलाफ़ हैं । इन का कहना है कि तेलंगाना में टी आर एस से मुफ़ाहमत का असर सीमा आंधरा के नताइज पर पड़ सकता है । देखना ये है कि ज़िमनी इंतिख़ाबात के ऐलान तक दोनों पार्टीयां इंतिख़ाबी मुफ़ाहमत के सिलसिला में किस हद तक पेशरफ़त करेंगे।

TOPPOPULARRECENT