Friday , December 15 2017

ज़िमनी इंतेख़ाबात (उप चुनाव) हुकूमत के लिए रिफ़रैंडम नहीं

सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी बी सत्या नारायना ने आज से असेंबली हल्का अनंतपूर अर्बन से पार्टी उम्मीदवार मिसिज़ मशीदा बेगम की इंतेख़ाबी मुहिम में हिस्सा लेते हुए अपनी इंतेख़ाबी मुहिम का आग़ाज़ किया। रियासत के ज़िमनी इंतेख़ाबात (उ

सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी बी सत्या नारायना ने आज से असेंबली हल्का अनंतपूर अर्बन से पार्टी उम्मीदवार मिसिज़ मशीदा बेगम की इंतेख़ाबी मुहिम में हिस्सा लेते हुए अपनी इंतेख़ाबी मुहिम का आग़ाज़ किया। रियासत के ज़िमनी इंतेख़ाबात (उप चुनाव) को रिफ़रैंडम तस्लीम करने से इनकार करते हुए कहा कि असल मुक़ाबला कांग्रेस और वाई एस आर कांग्रेस पार्टी के दरमयान है, तेलगू देशम को तीसरा मुक़ाम हासिल होगा। कांग्रेस बेशतर हल्कों में कामयाबी हासिल करेगी। कांग्रेस उम्मीदवार मशीदा बेगम के साथ इंतेख़ाबी मुहिम में हिस्सा लेने के बाद मीडीया से बातचीत करते हुए सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने कहा कि सिर्फ 18 असेंबली हल्कों और एक लोक सभा हल्का में इंतेख़ाबात हो रहे हैं, जिस को रिफ़रैंडम नहीं कहा जा सकता।

उन्हों ने कहा कि तरक़्क़ी-ओ-बहबूद कांग्रेस का इंतेख़ाबी एजेंडा है और कांग्रेस की फ़लाही इस्कीमात ही कांग्रेस उम्मीदवारों की कामयाबी का मूजिब (वजह ) बनेंगी। उन्हों ने सदर तेलगू देशम एन चंद्र बाबू नायडू और सदर वाई एस आर कांग्रेस पार्टी वाई एस जगन मोहन रेड्डी पर सख़्त तन्क़ीद करते हुए कहा कि नायडू को रियासत के अवाम ने आठ साल तक अपोज़ीशन में रखा, इस के बावजूद सदर तेलगू देशम अपना मुहासिबा करने में नाकाम रहे और ना ही उन्हों ने अपोज़ीशन का तामीरी रोल अदा किया। दूसरों पर बदउनवानीयों (भ्रष्टाचार) का इल्ज़ाम आइद करने वाले मिस्टर नायडू ख़ुद बद उनवानों के सरबराह हैं। अगर वो हाईकोर्ट से हुक्म इल्तवा हासिल ना करते तो जेल में होते।

जगन मोहन रेड्डी अवाम को गुमराह कर रहे हैं, हुकूमत और कांग्रेस पार्टी पर बेजा और बेबुनियाद(निराधार) इल्ज़ामात आइद कर रहे हैं। इन की सयासी मुफ़ाद परस्ती की वजह से रियासत में ज़िमनी इंतेख़ाबात (उप चुनाव) मुनाक़िदआ(योजित) हो रहे हैं। जगन, डाक्टर वाई एस राज शेखर रेड्डी की सिर्फ जायदाद और असासा जात के वारिस हैं, सयासी वारिस तो कांग्रेस क़ाइदीन हैं। राज शेखर रेड्डी आख़िरी सांस तक कांग्रेसी थे और उन्हों ने 2014 में राहुल गांधी को वज़ीर-ए-आज़म बनाने का ख्वाब देखा था, जिस को पूरा करना कांग्रेसियों की ज़िम्मेदारी है।

TOPPOPULARRECENT