Tuesday , December 12 2017

ज़िमनी इंतेख़ाबात के नताइज हुकूमत पर असर अंदाज़ नहीं होंगे

सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी मिस्टर बी सत्य ना रायना ने कहा कि 17 असेंबली हलक़ों पर कामयाबी कांग्रेस की अव्वलीन तर्जीह होगी। नताइज हुकूमत पर असर अंदाज़ नहीं होंगे और ना ही हुकूमत को कोई ख़तरा है। आज गांधी भवन में मीडीया से बातचीत कर

सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी मिस्टर बी सत्य ना रायना ने कहा कि 17 असेंबली हलक़ों पर कामयाबी कांग्रेस की अव्वलीन तर्जीह होगी। नताइज हुकूमत पर असर अंदाज़ नहीं होंगे और ना ही हुकूमत को कोई ख़तरा है। आज गांधी भवन में मीडीया से बातचीत करते हुए मिस्टर बी सत्य ना रायना ने कहा कि पार्टी विहिप की ख़िलाफ़वरज़ी करने वालों को हरगिज़ बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

स्पीकर के फ़ैसला का वो ख़ौर मक़दम करते हैं। इन 17 हलक़ों में दुबारा कामयाबी के लिए कांग्रेस हर मुमकिन कोशिश करेगी। उन्हों ने कहा कि रियासत के अवाम बाशऊर हैं, जगन की ताईद करने वाले अरकान असेंबली को दुबारा कामयाब बनाकर बद उनवानीयों को फ़रोग़ नहीं देंगे, बल्कि बद उनवानीयों के ख़ातमा के लिए अमली इक़दामात करनेवाली कांग्रेस हुकूमत का साथ देंगे।

उन्हों ने कहा कि कांग्रेस हुकूमत ने मआशी बोहरान और रियासत की नाज़ुक सूरत-ए-हाल के बावजूद रियासत की तरक़्क़ी और अवाम की फ़लाह-ओ-बहबूद के मुआमले में कोई समझौता नहीं किया, बल्कि कांग्रेस पार्टी के इंतिख़ाबी मंशूर में अवाम से जो वाअदे किए गए थे, इस को पूरा करने हर मुमकिन कोशिश की जा रही है। हुकूमत की कारकर्दगी से रियासत के अवाम पूरी तरह मुतमइन हैं।

तेलगू देशम और वाई ऐस आर कांग्रेस अवामी एतिमाद से महरूमहो चुकी हैं। 17 असेंबली हलक़ों के ज़िमनी इंतेख़ाबात कब मुनाक़िद होंगे? के सवाल का जवाब देते हुए सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने कहा कि इस का फ़ैसला इलक्शन कमीशन करेगा। इन की मालूमात के मुताबिक़ सदर जमहूरीया हिंद के इंतेख़ाबात से कब्ल रियासत के ज़िमनी इंतेख़ाबात हो जाना चाहीए।

उन्हों ने कहा कि कांग्रेस पार्टी आज भी अज़ीम क़ाइद डाक्टर राज शेखर रेड्डी का एहतिराम करती है, उन की मुतआरिफ़ करदा फ़लाही इसकीमात पर अमल किया जा रहा है।

उन्हों ने कहा कि हर दिन जगन की बद उनवानीयों की एक नई दास्तान सुनने में आरही है। अपोज़ीशन का तामीरी रोल अदा करने की बजाय मिस्टर चंद्रा बाबू नायडू की नज़रें चीफ़ मिनिस्टर की कुर्सी पर टिकी हुई हैं। वो अवामी मसाइल पर सयासी मस्लिहत को तर्जीह दे रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT