Wednesday , June 20 2018

ज़िला और मंडल परिषदों के चुनाव के लिए 80 फ़ीसद राय दही

रियासत में जैड पी टी सीज़ और एम पी टी सीज़ के लिए पहले मरहले के तहत मुनाक़िदा राय दही चंद एक मामूली नौईयत के वाक़ियात के मासिवा-ए-बहैसीयत मजमूई पुरअमन रही।

रियासत में जैड पी टी सीज़ और एम पी टी सीज़ के लिए पहले मरहले के तहत मुनाक़िदा राय दही चंद एक मामूली नौईयत के वाक़ियात के मासिवा-ए-बहैसीयत मजमूई पुरअमन रही।

और राय दही का औसत तक़रीबन 80 फ़ीसद रहने की इत्तेलाआत हैं। राय दही से मुताल्लिक़ मुकम्मिल रिपोर्टस मौसूल ना होने की वजह से राय दही क़तई फ़ीसद का इज़हार करना मुश्किल है।

जबकि एन जैड पी टी सीज़-ओ-एम पी टी सीज़ के लिए दूसरे मरहले की राय दही 11 अप्रैल को मुनाक़िद होगी। कमिशनर रियासती इलेक्शन कमीशन पी रमाकांत रेड्डी ने अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए ये बात बताई और कहा कि दूसरे मरहले के तहत 11 / अप्रैल को मुनाक़िद की जाने वाली राय दही के लिए भी तक़रीबन तमाम तर इंतेज़ामात मुकम्मिल करलीए गए हैं।

पहले मरहले के तहत हुई राय दही के दौरान अज़ला नेल्लोर मेदक और अनंतपुर में राय दही के दौरान पेश आए चंद नाख़ुशगवार वाक़ियात की वजह से छः मराकज़ राय दही पर 11 अप्रैल को ही दुबारा राय दही करवाई जाएगी।

पुलिस ने वहां पर पाई जाने वाली सूरत-ए-हाल का अंदाज़ा लगा कर हालात पर क़ाबू पालिया। रमाकांत रेड्डी ने कहा कि बाज़ मुक़ामात पर वाई एस आर कांग्रेस पार्टी और तेलुगु देशम पार्टी क़ाइदीन-ओ-कारकुनों के माबैन झड़पों के वाक़ियात पेश आने की इत्तेलाआत मौसूल हुई हैं।

उन्होंने कहा कि पाँच बजे तक मराकज़ राय दही में दाख़िल हो कर क़तारों में पाए जाने वाले तमाम राय दहनदों को राय दही का वक़्त ख़त्म होने के बावजूद हक़ राय दही से भरपूर इस्तेफ़ादा करने का मौक़ा फ़राहम करने की मुताल्लिक़ा ओहदेदारों को हिदायात दी गई हैं।

कमिशनर रियासती इलेक्शन कमीशन ने बतायाकि पहले मरहले के तहत (557) जैड पी टी सीज़ और (8250) एम पी टी सीज़ के लिए राय दही मुनाक़िद हुई।

TOPPOPULARRECENT