Thursday , August 16 2018

जाईफ को अगवा कर नाम बदलवाया और रामविलास के खिलाफ उतारा

हाजीपुर में बाहुबलियों ने 97 साल के एक ज्याइफ का यरगमाल कर पहले तो अदालत में हदफ़ के जरिये उसका नाम बदलवाया, फिर हाजीपुर पार्लियामानी हल्के से नॉमिनेशन भी करा दिया। यह जाईफ अचानक चर्चा में आ गया, क्योंकि उसका नाम रामविलास भगत है। लेक

हाजीपुर में बाहुबलियों ने 97 साल के एक ज्याइफ का यरगमाल कर पहले तो अदालत में हदफ़ के जरिये उसका नाम बदलवाया, फिर हाजीपुर पार्लियामानी हल्के से नॉमिनेशन भी करा दिया। यह जाईफ अचानक चर्चा में आ गया, क्योंकि उसका नाम रामविलास भगत है। लेकिन, बाहुबलियों ने अदालत में हदफ़ के जरिये उसका नाम रामविलास पासवान करा दिया। यह सब इसलिए किया गया, ताकि लोजपा सरबराह रामविलास पासवान के हिस्से के कुछ वोट धोखे से इस रामविलास पासवान की झोली में चले जायें।

मांगी मदद

सनीचर को उस जाईफ ने अपनी बहू के साथ पटना के एसके पुरी वाकेय लोजपा सरबराह रामविलास पासवान के रिहाहीशगाह पर पहुंचा। यहां उसने मिस्टर पासवान को अपनी वाकिया सुनायी और मदद मांगी। उसकी बहू कुसुम देवी ने बताया कि हाजीपुर के कुछ बाहुबलियों ने अचानक उनके ससुर का यरगमाल कर लिया। पूरी रात अपने साथ रखने के बाद अगले दिन उन्हें हाजीपुर अदालत ले जाकर पहले हदफ़ के जरिये उनका नाम रामविलास भगत से बदल कर रामविलास पासवान किया गया और फिर वहां जिला समाहरणालय में उनका नॉमिनेशन भी करा दिया गया। बाहुबलियों ने मुंह नहीं खोलने के लिए पैसों के लालच के साथ बुरे अंजाम की धमकी भी दी थी।

TOPPOPULARRECENT