Sunday , December 17 2017

जाट आरक्षण के ख़िलाफ़ टिप्पणी करने पर बीजेपी ने सांसद सैनी को भेजा कारण बताओ नोटिस

image

नई दिल्ली : हफ़्ते के रोज़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद राज कुमार सैनी ने जाट आरक्षण का विरोध करते हुए कुछ टिप्पणियाँ की थीं जिसके लिए पार्टी ने उनको कारण बताओ नोटिस जारी किया है |

सैनी ने इससे पहले जाटों को आरक्षण के मुद्दे पर आपत्ति व्यक्त करते हुए कहा था कि अगर जाटों को आरक्षण देने से पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) को कोई नुकसान होता है तो वह इस्तीफ़ा दे देंगे |

भाजपा नेता अनिल जैन ने मीडिया को बताया कि जाट अशांति के साथ संबंध में, हम केंद्र सरकार से बात की है और उन्हें यहाँ के मौजूदा हालात के बारे में जानकारी दी है | पार्टी ने उन नेताओं के बयान से जिन्होंने जाटों के खिलाफ टिप्पणी की है खुद को दूर रखा है | हालंकि लगातार चेतावनी के बाद, राज कुमार सैनी ने विवादास्पद बयान जारी रखे जिसके बाद पार्टी ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया |

उन्होंने कहा कि भाजपा विशेष रूप से किसी जाति के खिलाफ या किसी भी जाति के पक्ष में नहीं है और उन्होंने कहा कि जाटों को आरक्षण दिया जाना चाहिए।

केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह ने सभी प्रदर्शनकारियों से अपील की कि कि आंदोलन को ख़त्म करें और राज्य सरकार के साथ अपने मुद्दों पर चर्चा करें तभी सभी मांगों को सुना जा सकता है | भाजपा पूरी तरह से जाट समुदाय के लिए आरक्षण के पक्ष में है |

उत्तर प्रदेश के जाट नेता आज 8 बजे गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर जाट समुदाय द्वारा फैलाई गयी अशांति की वर्तमान स्थिति पर चर्चा करेंगे।

इससे पहले, आरक्षण की मांग कर रहे जाट समुदाय के आंदोलनकारियों ने कल कैथल में राज कुमार सैनी के निवास पर पथराव किया था |

पुलिस ने बताया कि करीब 50 व्यक्तियों ने सैनी के निवास पर हमला किया और उनके निवास के खिड़की के शीशे को नुकसान पहुँचाया |

इसी बीच जाट आंदोलन के दौरान हिंसा की घटनाओं के मद्देनजर रोहतक, भिवानी और झज्जर कस्बों में पहले ही कर्फ्यू लगा दिया गया|

रोहतक जिले के महम इलाके में भीड़ ने राज्य के विभिन्न हिस्सों में हिंसा बढ़ने के बाद एक पुलिस स्टेशन, एक पेट्रोल पंप और एक सरकारी इमारत को आग के हवाले कर दिया |

सेना ने रोहतक में जहाँ आंदोलनकारियों और सुरक्षाकर्मियों के बीच हुई झड़प में कथित तौर पर तीन लोग मारे गये और 78 घायल हो गये आज फ्लैग मार्च किया |

हालांकि प्रदर्शनकारियों ने रोहतक में कई जगहों पर नाकेबंदी कर सेना के दाख़िल होने पर पाबन्दी लगा दी जिसके बाद हेलीकाप्टर की मदद से सेना को शहर में भेजा गया |

TOPPOPULARRECENT