जानवरों की क़ुर्बानी पर कोई इमतिना नहीं

जानवरों की क़ुर्बानी पर कोई इमतिना नहीं
Click for full image

हैदराबाद 03 सितंबर: कलेक्टर हैदराबाद राहुल बोज्ह ने ईद-उल-अज़हा के मौके पर जानवरों के ज़ुबा पर पाबन्दी से मुताल्लिक़ अख़बारात में शाय शूदा ख़बर पर ज़रूरी वज़ाहत की है।

उन्होंने सियासत न्यूज़ से बातचीत करते हुए कहा कि उनके दफ़्तर से जारी सरकारी आलामीया के बारे में वो बिलकुल लाइलम हैं। जैसे ही ये इत्तेलाआत मौसूल हुईं उन्होंने ये वज़ाहत की के ईद-उल-अज़हा के मौके पर जानवरों की क़ुर्बानी पर कोई पाबन्दी आइद नहीं किया गया है और ये अमल बिला रुकाव‌ट जारी रहेगा।

उन्होंने बताया कि उनके इलम में लाए बग़ैर एक प्रेस रीलीज़ जारी किया था जिसकी जांच की जाएगी। वाज़िह रहे कि इस ख़बर की इशाअत पर सुबह की अव्वलीन साअतों से रोज़नामा सियासत के दफ़्तर पर क़ारईन के टेलीफोन्स कालिस का तानता बंध गया और अवाम में इस आलामीया से मुताल्लिक़ गहिरी तशवीश-ओ-बेचैनी पैदा हो गई।

इस तशवीश को मलहूज़ रखते हुए नुमाइंदा सियासत ने बरवक़्त कलेक्टर से रब्त पैदा किया जिस पर उन्होंने ये वज़ाहत की। उन्होंने बताया कि गणेश तहवार और ईद-उल-अज़हा के पेश-ए-नज़र मुताल्लिक़ा ओहदेदारों का कोई भी मीटिंग मुनाक़िद नहीं किया गया और ना ही मस्लख़ के ज़िम्मेदारान को इस सिलसिले में अहकाम जारी किए गए।

कलेक्टर के दफ़्तर से एक तहरीरी वज़ाहत भी जारी की गई जिसमें ये बताया गया कि उनके दफ़्तर से जारी किए गए प्रेस रीलीज़ में जानवरों की मुंतकली और जानवरों से बेरहमी की रोक-थाम से मुताल्लिक़ हसब-ए-मामूल अहकाम जारी किए गए थे और उन अहकामात से ईद-उल-अज़हा की क़ुर्बानी का कोई ताल्लुक़ नहीं है।

Top Stories