Wednesday , September 19 2018

जानिए, अफगानिस्तान का एक ऐसा इलाका, जो दशकों चली आ रही लड़ाई से है अंजान!

अफगानिस्तान के पहाड़ी इलाके वाखन कॉरिडोर में रहते लोग। जिनकी दुनिया अजीब सी है। यह इतना दूर दराज वाला इलाका है कि यहां रहने वाले अफगानिस्तान में दशकों से चल रही लड़ाई से अंजान हैं।

इस इलाके में वाखी कबीले के लगभग 12 हजार लोग रहते हैं। फारसी में इसे “बाम ए दुनिया” यानी दुनिया की छत कहते हैं। अफगानिस्तान में एक संकरी पट्टी वाले इस इलाके की सीमाएं पाकिस्तान और ताजिकिस्तान से मिलती हैं और यह चीन तक फैली है।

इस इलाके तक पहुंच पाना बहुत ही मुश्किल है। यही वजह है कि अफगानिस्तान में लगभग चालीस साल से चल रहे युद्ध से यह इलाका बिल्कुल महफूज रहा है।

याक के सूखे गोबर से जल रही आग को कुरेदते हुए सुल्तान बेगम कहती हैं, “लड़ाई, कैसी लड़ाई?” हालांकि उन्होंने यह जरूर सुना है कि उनके इलाके की सीमा पर रूसी सैनिक सिगरेट फेंक जाया करते थे।

लेकिन यह बात उस जमाने की है जब अफगानिस्तान पर सोवियत हमला हुआ था जिसका मुकाबला करने के लिए अमेरिका ने मुजाहिदीन को हथियार दिए थे। नौ साल तक चले इस बर्बर संघर्ष में लगभग दस लाख लोग मारे गए और लाखों बेखर हो गए।

इसके बाद अफगानिस्तान में गृह युद्ध छिड़ गया। तालिबान देश की सत्ता पर काबिज हुए, फिर उन्हें हटाया गया। वहां लड़ाई कभी शांत नहीं हुई और हजारों लोग अब तक इसकी भेंट चढ़ चुके हैं।

सुल्तान बेगम के बड़े बेटे असकर शाह ने पाकिस्तानी व्यापारियों से तालिबान की खौफनाक कहानियां सुनी हैं। वह कहते हैं, “तालिबान बहुत बुरे लोग हैं। वे किसी और देश के हैं। वे भेड़ों का बलात्कार करते हैं और इंसानों की हत्या।”

यहां के लोगों को अफगानिस्तान पर अमेरिकी हमले या फिर तालिबान और हालिया ‘इस्लामिक स्टेट’ की बर्बरता के बारे में बहुत कम जानकारी है। असकर शाह बड़ी जिज्ञासा से पूछते हैं, “क्या विदेशियों ने हमारे देश पर हमला किया?”

TOPPOPULARRECENT