Monday , May 21 2018

जामिया नगर में आयोजित शहीद अशफ़ाक उल्लाह खां मुशायरे का विरोध

दिल्ली: जामिया नगर में शहीद अशफाक उल्लाह ख़ान के नाम पर होने वाले मुशायरे का विरोध तेज हो गया है। मजलिस इत्तेहादुल मुसलमीन ने घोषणा की है कि वह मुख्यमंत्री को तब तक मुशायरा में भाग लेने नहीं देंगे, जब तक वह डेंगू और चिकन गुन्या के मृतकों के लिए एक करोड़ रुपये के मुआवजे की घोषणा नहीं करते हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार बटला हाउस चौक पर विरोध करते ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुसलमीन के कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि पूरी दिल्ली में डेंगू और चिकन गुन्यां से लगातार मृत्यु हो रही हैं। केवल ओखला में चार दर्जन मौतें हुई हैं, लेकिन ओखला में मुशायरे और उत्सव हो रहे हैं और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी इस उत्सव में भाग लेने वाले हैं। मजलिस के नेताओं ने चेतावनी दी कि अगर डेंगू और चिकन गुन्यां के मृतकों के वारिस के लिए एक करोड़ रुपये के मुआवजे का ऐलान नहीं किया गया, तो वह मुख्यमंत्री को मुशायरा स्थान में प्रवेश नहीं करने देंगे।
गौरतलब है कि जामिया नगर ने डेंगू के दर्द को काफी झेला है। इलाज की बेहतर सुविधाएं न होने से इस क्षेत्र में लगभग 48 मौतें हुई हैं। यही कारण है कि आम लोगों में काफी नाराजगी पाई जा रही है।

TOPPOPULARRECENT