Friday , December 15 2017

जामिया मिलिया में कुरान की नायाब पांडुलिपियों और कैलियाग्राफी की नुमाइश

नई दिल्ली : जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी में मंगल से शुरू हो रही एक नुमाइश में 15वीं से 20वीं सदी की कुरान की नायाब पांडुलिपियों को प्रदर्शित किया जाएगा. प्रदर्शनी दो सप्ताह तक चलेगी.

यूनिवर्सिटी के एक बयान के मुताबिक प्रदर्शनी कुरान – ट्रेजर ऑफ नॉलेज में जापानी, फ्रेंच, जर्मन, बर्मी, तुर्की और फारसी जुबान समेत मुखतलिफ भारतीय ओर बैरूनी मुल्क के जुबान में कुरान के नायाब अशाअत ट्रांसलेट को भी प्रदर्शित किया जाएगा. प्रदर्शनी का इफ्तिताह कुलपित तलत अहमद करेंगे. इसमें इस्लामी कैलीयोग्राफी और कुरान की आयतों की मल्टीमीडिया प्रस्तुतियों को भी प्रदर्शित किया जाएगा.

बयान की मुताबिक, प्रदर्शनी में कुरान की सांइस्टीक सुबुतों के साथ अहम पहलुओं पर रोशनी डाली जायेगी. प्रदर्शनी पांच जुलाई तक चलेगी

TOPPOPULARRECENT