Tuesday , December 12 2017

जाली डिग्रियां फ़रोख़त करनेवाला रैकेट बेनकाब

जाली यूनीवर्सिटी के तालीमी सर्टीफ़िकेटस फ़रोख़त करने में शामिल दो अफ़राद को टास्क फ़ोर्स वैस्ट ज़ोन टीम ने गिरफ़्तार करलिया। डिप्टी कमिशनर आफ़ पुलिस टास्क फ़ोर्स बी लंबा रेड्डी ने बताया कि 31 साला मिर्ज़ा अकरम बैग मुतवत्तिन कर्ना

जाली यूनीवर्सिटी के तालीमी सर्टीफ़िकेटस फ़रोख़त करने में शामिल दो अफ़राद को टास्क फ़ोर्स वैस्ट ज़ोन टीम ने गिरफ़्तार करलिया। डिप्टी कमिशनर आफ़ पुलिस टास्क फ़ोर्स बी लंबा रेड्डी ने बताया कि 31 साला मिर्ज़ा अकरम बैग मुतवत्तिन कर्नाटक जो टोलीचौकी में वाक़्ये जाली यूनीवर्सिटी इंडियन इंस्टीटियूट आफ़ मैनेजमेंट ऐंड इंजीनीयरिंग एसटीडीज़ का इंचार्ज है और वो अपने साथी 28 साला रिज़वान विक़ार जो मज़कूरा यूनीवर्सिटी का ब्रांच मैनेजर है ख़लीज ममालिक मुलाज़मत के लिए जाने वाले ख़ाहिशमंद अफ़राद को इस यूनीवर्सिटी के सर्टीफ़िकेटस 30 ता 75 हज़ार में फ़रोख़त कररहे थे।

डी सी पी ने बताया कि मिर्ज़ा अकरम बैग गुलबर्गा में भी मज़कूरा यूनीवर्सिटी चला रहा है और यहां पर अपने क़रीबी रिश्तेदार रिज़वान विक़ार की मदद से डिग्री और दुसरे इमतेहानात में नाकाम नौजवानों के तफ़सीलात हासिल करते हुए उन्हें बज़रीया फ़ोन रब्त पैदा कर के डिप्लोमा और इंजीनीयरिंग के कोर्सेस के ज़रीये सर्टीफ़िकेट फ़राहम करने का झांसा दे रहे थे।

TOPPOPULARRECENT