Friday , December 15 2017

जासूसी के शक में डेढ सौ कबूतर जब्त

जम्मू : जम्मू में पुलिस ने 154 कबूतरों को जासूसी के शक में जब्त किया है. इन कबूतरों के पैरों में अलग अलग रंग के घुंघरू बंधे थे. अमृतसर से ये कबूतर दक्षिण कश्मीर भेजे जा रहे थे. पिछले हफ्ते कबूतरों से भरी पेटी को पुलिस ने जब्त किया जिसकी जांच जारी है. शक इसलिए बढ़ गया है क्योंकि इन कबूतरों को फलों की पेटी में बंद करके ले जाया जा रहा था. पुलिस ने कबूतर ले जा रहे लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है. इन कबूतरों के पंखों को क्लिप, सेफ्टी पिन और धागे से बांधा गया था. कलेक्टर ने सुरक्षा एजेंसियों से जांच कर रिपोर्ट देने को कहा है. कबूतर से जासूसी का शक इसलिए भी बढ़ जाता है क्योंकि अभी पिछले हफ्ते ही जासूसी वाले कबूतर मिले थे और ये सभी कबूतर ऐसे हैं जो अपने देश के कबूतरों से मिलते जुलते नहीं हैं. इन सभी कबूतरों को फल सप्लाई करने वाले डिब्बो में बंद कर के कश्मीर ले जाया जा रहा था. पुलिस ने कबूतर ले जाने वाले लोगो के खिलाफ मामला दर्ज किया और फिर अदालत ने इन कबूतरों को छोड़ने के आदेश पुलिस को दे दिए. इस मामले ने नया मोड़ उस समय लिया जब इस मामले के आरोपियों ने इन कबूतरों की देख रेख कर रही एनजीओ से जुड़े लोगो पर दबाव डालना शुरू कर दिया. मामला तब और अधिक गंभीर हो गया जब इन कबूतरों को उन डिब्बो में से निकला गया और यह पाया गया कि इन कबूतरों के पैरो में विशेष तरह के घुंघरू बंधे थे.

साथ ही इन कबूतरों के पंखो को क्लिप, सेफ्टी पिन और धागे से बांधा गया था. पशु संरक्षको यह आशंका हुई कि ज़रूर यह मामला कुछ अलग है क्योंकि यह सभी कबूतर भारत में पाए जाने वाले कबूतरों से अलग थे, जिसके बाद उन्होंने जम्मू के डीएम से बाबत मदद मांगी. जम्मू में डीएम के पास मामला पहुंचे ही उन्होंने तुरंत इन सभी कबूतरों को एक एनजीओ में रखने के आदेश दे दिए. साथ ही उन्होंने अगले 20 दिनों में राज्य की सभी सुरक्षा एजेंसियों को इन कबूतरों की सारी जानकारी जुटाने को कहा है. जम्मू के डीएम के मुताबिक भारत और पाकिस्तान के बीच मौजूदा हालातो में जिस तरह की खबरे आ रही है, ऐसे में इन कबूतरों की जानकारी जुटाना ज़रूरी जिसके तहत ही यह आदेश दिए गए है. हाल में में जम्मू में भारतीय वायु सेना ने भी एक अलर्ट जारी कर यह आशंका जताई थी कि पाकिस्तान कुछ अपरंपरागत तरीको से भारत में जासूसी करवा सकता है. वहीं कुछ दिन पहले पठानकोट में बीएसएफ के जवानों ने बमियाल सेक्टर की सिंबल चौकी पर एक संदिग्ध कबूतर को कब्जे में लिया था. सीमापार से आए इस कबूतर के पास से उर्दू में लिखा गया एक पत्र बरामद हुआ था जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संबोधित किया गया था. पुलिस के मुताबिक, कबूतर के पास से बरामद कागज पर लिखे गए संदेश में कहा गया है, ‘‘मोदी जी हमें 1971 (भारत-पाकिस्तान युद्ध) के समय का मत समझिए. अब हर एक बच्चा भारत के खिलाफ लड़ने को तैयार है.’’

TOPPOPULARRECENT