Thursday , February 22 2018

जासूसी तनाज़ा , हिन्दुस्तान की जानिब से अमरीकी सिफ़ारत कार की तल्बी

बी जे पी ने इन रिपोर्टस पर सख़्त रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए कि अमरीका के क़ौमी सलामती महिकमा की जानिब से हिन्दुस्तान में उसकी जासूसी की गई थी, हिन्दुस्तान ने आज आला सतह की अमरीकी सिफ़ारत कार को तल्ब किया ताकि ये मसला उठाया जाये।

बी जे पी ने इन रिपोर्टस पर सख़्त रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए कि अमरीका के क़ौमी सलामती महिकमा की जानिब से हिन्दुस्तान में उसकी जासूसी की गई थी, हिन्दुस्तान ने आज आला सतह की अमरीकी सिफ़ारत कार को तल्ब किया ताकि ये मसला उठाया जाये।

हिन्दुस्तान ने कहा कि ये मुकम्मल तौर पर नाक़ाबिल-ए-क़बूल है कि एक हिन्दुस्तानी तंज़ीम या हिन्दुस्तानी फ़र्द की ख़लवत में दख़ल अंदाज़ी की जाये। हिन्दुस्तान ने अमरीका से एसे वाक़िये के इआदा ना होने का तैक़ून‌ भी तल्ब किया, ताहम सरकारी ओहदेदारों ने ये नहीं कहा कि विज़ारत-ए-ख़ारिजा की जानिब से जिस अमरीकी सिफ़ारत कार को तल्ब किया गया था, वो कौन था।

नुमायां बात ये है कि अमरिका ने हाल ही में एक उबूरी सफ़ीर कैथलीन स्टीफ़नस का तक़र्रुर किया है जो साबिक़ सफ़ीर अमरीका नेन्सी पॉवेल के इस ओहदे से मुस्ताफ़ी होने के बाद उनकी जांनशीन हैं। हिन्दुस्तान ने ये भी नोट किया कि ये मसला अमरीकी इंतेज़ामिया और इस के मुक़ामी सिफ़ारत ख़ाना के साथ जुलाई और नवंबर 2013 में उठाया था जबकि ये इत्तेलाआत मिली थीं कि इन एसए ने अफ़राद और शख़्सियात की जासूसी की है और इस बारे में अमरीका के जवाब का इंतेज़ार है।

TOPPOPULARRECENT