Wednesday , December 13 2017

जिन्सी ज़्यादती का मुआमला इन्सिदादे दहशतगर्दी की अदालत में

पाकिस्तान में बच्चों से मुबैयना ज़्यादती के मंज़रे आम पर आने वाले सबसे बड़े वाक़िये के मुक़द्दमे में इन्सिदादे दहशतगर्दी की दफ़आत शामिल करते हुए उसे इन्सिदादे दहशतगर्दी की अदालत में चलाने का फ़ैसला किया गया है।

क़ब्लअज़ीं लाहौर की अदालते आलिया ने इस मुक़द्दमे को आम अदालत की बजाय इन्सिदादे दहशतगर्दी की अदालत में चलाने की एक एक दरख़ास्त पर पंजाब के सेक्रेट्री दाख़िला और ऐडवोकेट जेनरल को बुध को अदालत में पेश होने का कहा था।

रवां माह ज़िला क़सूर के इलाक़े हुसैनाबाद से ये ख़बर मंज़रे आम पर आने के बाद यहां गुज़िश्ता चंद सालों के दौरान 270 से ज़ाइद बच्चों को ना सिर्फ मुबैयना तौर पर जिन्सी ज़्यादती का निशाना बनाया जाता रहा बल्कि उनकी विडियो बना कर बच्चों के वालिदैन को ब्लैक मेल भी किया जाता रहा।

TOPPOPULARRECENT