Thursday , June 21 2018

जियाउल हक के क़त्ल का जल्द होगा पर्दाफाश!

प्रतापगढ़, 26 मार्च: बलीपुर के मशहूर सीओ जियाउल हक क़त्ल केस की जांच कर रही सीबीआइ टीम कल दोपहर बाद कैंप के दफतर कुंडा से लखनऊ के लिए रवाना हो गई। माना जा रहा है कि सीबीआइ टीम लखनऊ में साबिक वज़ीर रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया से पू

प्रतापगढ़, 26 मार्च: बलीपुर के मशहूर सीओ जियाउल हक क़त्ल केस की जांच कर रही सीबीआइ टीम कल दोपहर बाद कैंप के दफतर कुंडा से लखनऊ के लिए रवाना हो गई। माना जा रहा है कि सीबीआइ टीम लखनऊ में साबिक वज़ीर रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया से पूछताछ कर मामले का राजफाश कर सकती है। ज़राए का कहना है कि सीबीआइ टीम वाकिया के राजफाश के करीब पहुंच गई है।

उधर, इस बात की तस्दीक होने के बाद कि सीओ का क़त्ल प्रधान के बेटे बबलू और भतीजे डब्लू के सामने हुई थी, सीबीआइ ने ज़ाय वाकिया पर ले जाकर दोनों से डेमो कराया। गौरतलब है कि ट्रिपल मर्डर की जांच कर रही सीबीआइ टीम ने डीआइजी अनुराग गर्ग की अगुवाई में आठ मार्च से कुंडा वाकेय् कैंप दफतर में डेरा डाल रखा था।

18 दिन तक चली जांच-पड़ताल के दौरान सीबीआइ ने प्रधान के खानदान , भगोड़े पुलिस मुलाज़्मीन के साथ ही मौके पर पहुंचे दूसरे थानों के थानेदारों, गाँव वाले , सीओ के कातिलों के साथ ही रिमांड पर लेकर गुड्डू सिंह व उसके भाई राजीव से पूछताछ की।

ज़ाय वाकिया पर पहुंची फोरेंसिक टीम ने नमूना इकट्ठा किया। इसके अलावा प्रधान के परिवारीजन के तीनों असलहों की फोरेंसिक व बैलेस्टिक जांच रिपोर्ट भी अपने पास महफूज़ कर ली। इस बीच, पीर के दिन दोपहर बाद एएसपी आशाराम यादव सीबीआइ के कैंप के दफ्तर पहुंचे। आधे घंटे तक वे सीबीआइ के आफीसरों से बातचीत करते रहे। एएसपी के बाहर आने के बाद सीबीआइ टीम सीओ सुभाष की अगुवाई में लखनऊ रवाना हो गई।

ज़राए की मानें तो 28 मार्च को सीबीआइ के डीआइजी के आने के इमकान है। उसी दिन लखनऊ के लिए रवाना हुई टीम भी लौट आएगी। उधर, सीबीआइ टीम को बबलू व डब्लू से अहम सुराग मिले हैं। यही वजह है कि सीबीआइ टीम पीर के दिन सुबह लगभग नौ बजे प्रधान नन्हे यादव के घर पहुंची। वहां से बबलू व डब्लू के हाथ में डंडा देकर प्रधान के घर के पीछे उस जगह पर ले गई, जहां पर सीओ जियाउल हक पर डंडों से हमला किया गया था। वहां दोनों ने हाथ में डंडे थाम कर हमले का डेमो करके दिखाया। करीब आधे घंटे तक डेमो कराने व ज़ाय वाकिया की जाँच की और जाँच करने के बाद बबलू, डब्लू को घर में रहने की हिदायत देकर सुधीर को अपने साथ लेकर सीबीआइ टीम कैंप के दफ्तर लौट आई। दफ्तर में सीबीआइ टीम ने सुधीर से कड़ाई से पूछताछ की।

TOPPOPULARRECENT