Monday , December 18 2017

जीएसटी ढाँचे में पूर्ण परिवर्तन की आवश्यकता :कांग्रेस

नई दिल्ली: कांग्रेस ने सरकार पर माल और सेवा कर (जीएसटी) का ढांचा अब भी ख़ामीयों पर है, और इसके हालिया रूप का ‘एक देश एक टैक्स नहीं एक देश सात टैक्स पर आधार है इस लिए पार्टी इस में पूरी तरह पर बदलाव के लिए विरोध जारी रखेगी।

कांग्रेस कम्युनिकेशंस डिपार्टमेंट के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने यहां जारी एक बयान में कहा कि कांग्रेस सरकार ने जो जी एसटी तैयार किया था मोदी सरकार‌ ने उसे बदल कर टैक्स की कई शरहें तै की और अब अपनी भूल सुधारने के लिए इस में क़िस्तों में बदलाव कर‌ रही है ।

मोदी सरकार‌ ने जीएसटी को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ बना दिया है जिससे मोदी सरकार‌ के चहेते चंद निवेशकों को ही फ़ायदा हो रहा है
उन्होंने कहा कि हालिया जी एसटी को जिस तरीक़े से तैयार किया गया है इस का ढांचा ग़लत है और पूरी तरह से मुश्किल है। इस जीएसटी को जल्द-बाज़ी में तैयार करके विकसित किया गया इस से देश के छोटे व्यवसायिक,छोटी और मध्यम उद्योग और ग़ैर मुनज़्ज़म इलाक़ों को भारी नुक़्सान हो रहा है ।

किसानों को भी इस के दायरे में लाया गया है जो अब तक कभी नहीं हुआ है प्रवक्ता ने कहा कि मोदी सरकार का ये जीएसटी में ‘एक देश एक टैक्स नहीं बल्कि एक देश सात टैक्स’ वाला बन चुका है । कांग्रेस पहले दिन से ही उसका विरोध‌ कर रही है और जीएसटी की अधिकांश मांग 18% है लेकिन मोदी सरकार‌ ने ऐसा जीएसटी तैयार किया है कि जिसकी विकसित दुनिया में सबसे ज़्यादा हैं।

TOPPOPULARRECENT