Thursday , December 14 2017

जीएसटी से आवश्यक दवा महंगी होंगी

नई दिल्ली: अगले महीने जीएसटी पर अमल के बाद देश में अधिकांश ज़ररी दवाओं की कीमतों में 2.29 प्रतिशत की वृद्धि होगी। सरकार ने अधिकांश अनिवार्य दवाओं को 12 प्रतिशत की दर श्रेणी में रखा है जबकि मौजूदा नियमों के अनुसार दवाओं पर 9 प्रतिशत के आसपास चुंगी होता है।

हालांकि कुछ विशेष दवाओं जैसे इंसुलिन की कीमतों में कमी हो सकती है। इसे जीएसटी में पांच प्रतिशत टैक्स श्रेणी में रखा गया है, जबकि उस पर बारह प्रतिशत टैक्स की सिफारिश की थी। दवा मूल्य निर्धारण करने वाली संस्था ने पहले ही यह स्पष्ट कर दिया है कि निश्चित और विशिष्ट दवाओं पर जो टैक्स दर प्रस्ताव जा रहा है पहले से मौजूद एक्साइज़ ड्यूटी दर से जोड़कर तय करने की जरूरत है।

TOPPOPULARRECENT