Thursday , December 14 2017

जीतन मांझी के हिमायत में आए भाजपा एमपी

वजीरे आला के शादीशुदा बेटे पर गर्लफ्रेंड के साथ बोधगया के होटल में हंगामे का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा। एक तरफ तो भाजपा के सीनियर लीडर सुशील कुमार मोदी ने इस मामले में हुकूमत पर हमलावर रुख अख्तियार कर रखा है। वहीं, गया से भाजपा

वजीरे आला के शादीशुदा बेटे पर गर्लफ्रेंड के साथ बोधगया के होटल में हंगामे का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा। एक तरफ तो भाजपा के सीनियर लीडर सुशील कुमार मोदी ने इस मामले में हुकूमत पर हमलावर रुख अख्तियार कर रखा है। वहीं, गया से भाजपा एमपी हरि मांझी ने पार्टी लाइन से इतर वजीरे आला के हिमायत में बयान जारी किया है। हालांकि, मामला गरमाने पर वे बयान से पलट गए।

भाजपा एमपी हरि मांझी ने इतवार को दोपहर मीडिया से कहा कि सारा मामला सिर्फ मीडिया में चल रहा है। इंतेजामिया तौर पर कुछ भी नहीं है। कोई शिकायत भी दर्ज नहीं हुई है। पार्टी के स्टैंड पर कहा कि – पहले जानकारी मिली तो कार्रवाई की मांग हुई।

अब जब कागज में कुछ नहीं आया तो अभी ब्रेक है। एमपी के इस बयान ने जैसे ही तूल पकड़ा तो शाम में उन्होंने सफाई भी दी। कहा- मेरे बयान को गलत ढंग से पेश किया गया। इस मामले की आला सतही जांच होनी चाहिए। भाजपा लीडर सुशील कुमार मोदी के स्टैंड से वे रत्तीभर अलग नहीं हैं।

सीएम ने बयान दिया है कि अगर उनका बेटा मुजरिम है तो कार्रवाई होगी। आप अपने घर से ही देखिए। कोई आगे बढ़ता है तो लोग पैर खींचते ही हैं।

हरि मांझी, एमपी, गया

TOPPOPULARRECENT