Thursday , December 14 2017

जी जनार्धन रेड्डी ज़मानत केलिए अदालत से रुजू

हैदराबाद 9 नवंबर (पी टी आई) सी बी आई ओबलापोरम माइनिंग कंपनी (ओ एमसी) में गै़रक़ानूनी कानकनी मुक़द्दमा के ताल्लुक़ से चार्ज शीट दाख़िल करने की तैय्यारी कररही है। दूसरी तरफ़ साबिक़ वज़ीर कर्नाटक गाली जनार्धन रेड्डी और कंपनी के मेनीजिं

हैदराबाद 9 नवंबर (पी टी आई) सी बी आई ओबलापोरम माइनिंग कंपनी (ओ एमसी) में गै़रक़ानूनी कानकनी मुक़द्दमा के ताल्लुक़ से चार्ज शीट दाख़िल करने की तैय्यारी कररही है। दूसरी तरफ़ साबिक़ वज़ीर कर्नाटक गाली जनार्धन रेड्डी और कंपनी के मेनीजिंग डायरैक्टर बीवी सरीनवास रेड्डी ने आज तीसरी मर्तबा मुक़ामी अदालत में दरख़ास्त ज़मानत पेश की।

इन दोनों के वुकला ने ख़ुसूसी अदालत बराए सी बी आई मुक़द्दमात में इस बुनियाद पर दरख़ास्त ज़मानत पेश की कि तहक़ीक़ात का एक बड़ा मरहला ख़तम होचुका है। इस के इलावा उन के मुवक्किलीन दो माह से तहवील में हैं और वो शवाहिद पर असरअंदाज़ नहीं होंगी। अदालत ने इस मुआमला की समाअत 11 नवंबर को मुक़र्रर की है। सी बी आई जो ओ एमसी को लीज़ दिए जाने में हुई बे क़ाईदगियों और गै़रक़ानूनी कानकनी की तहक़ीक़ात कररही है, जनार्धन रेड्डी के इलावा उन के बरादर-ए-निसबती सरीनवास को 5 सितंबर को बेल्लारी (कर्नाटक में) गिरफ़्तार किया था।

इन दोनों को 14 नवंबर तक अदालती तहवील में दिया गया है और वो जेल में हैं। अदालत ने इस से पहले 13 सितंबर को दरख़ास्त ज़मानत मुस्तर्द करते हुए तफ़तीश के लिए 19 सितंबर तक सी बी आई तहवील में दिया था। 30 सितंबर को अदालत ने जनार्धन रेड्डी की दरख़ास्त ज़मानत को दुबारा मुस्तर्द करदिया और एजैंसी की दरख़ास्त को मुस्तर्द करदिया जिस में इन दोनों को मज़ीद 9 दिन के लिए तहवील में देने की ख़ाहिश की गई थी।

सी बी आई जवाइंट डायरैक्टर (हैदराबाद ज़ोन) वे वे लक्ष्मी ना रावना ने हाल ही में कहा था कि ओ एमसी मुक़द्दमा में चार्ज शीट जल्द पेश की जाएगी। इस दौरान साबिक़ डायरैक्टर ए पी माइनस ऐंड ज्योलोजी वे डी राजा गोपाल ने कहाकि साबिक़ वाई ऐस राज शेखर रेड्डी हुकूमत ने ही ओ एमसी का ख़ास ख़्याल किया था और ये एक हक़ीक़त है। उन्हों ने कहाकि इस कंपनी को अव्वलीन तर्जीह दी गई और इस के इलावा तमाम इजाज़त नामे भी आंधरा प्रदेश हुकूमत ने जारी कई। राज गोपाल ने कहाकि वो सी बी आई के साथ मुकम्मल तआवुन कररहे हैं।

TOPPOPULARRECENT