Sunday , December 17 2017

जुमला रियासती घरेलू पैदावार को 18.2 फ़ीसद करने का निशाना

विजयवाड़ा 27 जून हुकूमत आंध्र प्रदेश जारीया इक़तिसादी साल के दौरान जुमला रियासती घरेलू पैदावार को 18.2 फ़ीसद तक लाने का मंसूबा रखती है और ज़राअत-ओ-इस से मुल्हिक़ा शोबाजात पर ख़ास तवज्जा दी जाएगी।

विजयवाड़ा 27 जून हुकूमत आंध्र प्रदेश जारीया इक़तिसादी साल के दौरान जुमला रियासती घरेलू पैदावार को 18.2 फ़ीसद तक लाने का मंसूबा रखती है और ज़राअत-ओ-इस से मुल्हिक़ा शोबाजात पर ख़ास तवज्जा दी जाएगी।

चीफ़ मिनिस्टर एन चंद्रबाबू नायडू ने ये बात बताई। नायडू अपने वुज़रा ज़िला कलेक्टरस सेक्रेटरीज़ और मुख़्तलिफ़ मह्कमाजात के सरबराहान के साथ एक मीटिंग में रियासत के हालिया शुरू करदा तवज्जे का हामिल शोबा मिशन का जायज़ा ले रहे थे।

चीफ़ मिनिस्टर ने कहा कि हालाँकि आंध्र प्रदेश को तक़सीम रियासत के बाद माली मुश्किलात का सामना है लेकिन इस ने पिछ्ले मालीयाती साल में क़ौमी औसत से एक फ़ीसद ज़्यादा जुमला घरेलू पैदावार का निशाना हासिल किया है।

उन्होंने कहा कि मालीयाती साल 2015 – 16 में रियासत का मंसूबा 18.2 फ़ीसद जुमला रियासती घरेलू पैदावार का निशाना हासिल करना है जो पिछ्ले साल के 1.45 लाख करोड़ रुपये से बढ़ कर 1.65 लाख करोड़ रुपये तक होसकता है।

कहा गया हैके आंध्र प्रदेश में ज़राअत और इस से मुल्हिक़ा शोबाजात ही जुमला रियासती घरेलू पैदावार का 27 फ़ीसद हिस्सा वसूल होता है खासतौर पर समयात और दूसरे शोबाजात इस में अहम रोल अदा करते हैं।

रियासती हुकूमत ने आबपाशी की सलाहीयत में इज़ाफे के लिए जारीया प्रोजेक्टस को जल्द मुकम्मिल करने का अमल तेज़ कर दिया है। नायडू ने कहा कि इन प्रोजेक्टस की तकमील के नतीजे में रियासत में आबपाशी की सलाहीयत मौजूदा 68 लाख हेक्टर अराज़ी से बढ़ कर 86 लाख हेक्टर अराज़ी हो जाएगी।

TOPPOPULARRECENT