Monday , December 11 2017

जूनागढ़ भगदड़ वाक़िया की आला सतह तहक़ीक़ात का हुक्म

हुकूमत गुजरात ने महा शिव रात्री के मौक़ा पर जूनागढ़ ,में भावनाथ मंदिर में भगदड़ वाक़िया की आला सतही तहक़ीक़ात का हुक्म दिया है। इस भगदड़ में 6 यात्री हलाक और ज़ाइद अज़ 40 ज़ख्मी हो गए। दफ़्तर ज़िला जूनागढ़ कलेक्टर ऑफ़िस के एक सीनीयर ओहदेदार

हुकूमत गुजरात ने महा शिव रात्री के मौक़ा पर जूनागढ़ ,में भावनाथ मंदिर में भगदड़ वाक़िया की आला सतही तहक़ीक़ात का हुक्म दिया है। इस भगदड़ में 6 यात्री हलाक और ज़ाइद अज़ 40 ज़ख्मी हो गए। दफ़्तर ज़िला जूनागढ़ कलेक्टर ऑफ़िस के एक सीनीयर ओहदेदार ने बताया कि एडीशनल चीफ़ सेक्रेटरी वरूण मारीया की ज़ेर-ए-क़ियादत एक आला सतही तहक़ीक़ाती कमेटी तश्कील दी गई है ताकि भगदड़ वाक़िया की तहक़ीक़ात अंजाम दी जा सके।

रियास्ती हुकूमत और जूनागढ़ म्यूनसिंपल कारपोरेशन (जे एम सी) ने महलोकीन के विरसा को फी कस एक लाख और ज़ख़मीयों को फी कस 25 हज़ार रुपये एक्स गरीशया-ए-का ऐलान किया है। पुलिस ने बताया कि महा शिव रात्री के मौक़ा पर यहां अमन बरक़रार रखने की ग़रज़ से बेहतर सिक्योरिटी इंतेज़ामात किए गए थे।

आई जी (राजकोट) सिन्हा को भगदड़ के मुक़ाम पर राहत कारी इक़्दामात के लिए तैनात किया गया है। इस हादिसा के बाद अखील भारतीय सिद्धू समाज जिसने इस मेला का एहतिमाम किया था, ने इस बात का फ़ैसला किया कि यहां से निकाले जाने वाले मशहूर जुलूस को मुल्तवी कर दिया जाए और बताया कि इसके बजाय अलामती तौर पर एक जुलूस निकाला जाएगा।

इस भगदड़ में बिशमोल 3 ख़वातीन , 2 बच्चे, 6 अफ़राद हलाक हो गए और ज़ाइद अज़ 40 अफ़राद ज़ख़मी हो गए। यहां गुज़शता रात महा शिव रात्री मेला के दौरान भगदड़ का वाक़िया पेश आया। बताया गया कि इस मंदिर को जाने के लिए तंग पंजना कि पुल का इस्तेमाल किया जाता है और ये भगदड़ का वाक़िया इस पुल पर पेश आया। पुलिस ने बताया कि एक कार के ब्रेक फ़ेल हो जाने की अफ़्वाह के बाद इस भगदड़ का वाक़िया पेश आया।

इस मशहूर महा शिव रात्री मेला का मंदिर में हर साल एहतिमाम किया जाता है जबकि तक़रीबन 10 लाख अफ्राद की इसमें शिरकत मुतवक़्क़े रहती है। पुलिस ज़राए ने ये बात बताई। पंजना कि पली महा शिव् रात्री के मेला का मुक़ाम शिव मंदिर जाने के लिए वाहिद रास्ता है, जो यहां से 150 किलो मीटर दूर पर वाक़्य है और इस वाक़िया के वक़्त इस पुल पर शदीद ट्रैफ़िक थी उसी में अफ़्वाह के सबब शदीद अफ़रातफ़री भगदड़ से ये हलाकतें पेश आएं।

TOPPOPULARRECENT