जेएनयू के छात्रों ने कुलपति और वरिष्ठ अधिकारियों को बंधक बनाया

जेएनयू के छात्रों ने कुलपति और वरिष्ठ अधिकारियों को बंधक बनाया
Click for full image

नयी दिल्ली। जेएनयू में एक लापता छात्र को लेकर चल रहा प्रदर्शन उस वक्त गंभीर हो गया जब आंदोलनकारी छात्रों ने कुलपति और दूसरे वरिष्ठ अधिकारियों को प्रशासनिक भवन में बंद कर दिया। विश्वविद्यालय के कुलपति एम जगदीश कुमार ने कहा, हम इमारत के भीतर दिन में 2.30 बजे से बंद हैं। हमारे साथ एक महिला सहकर्मी भी हैं जो अस्वस्थ हो गईं हैं क्योंकि उनको मधुमेह है। दूसरी ओर, जेएनयू के छात्रों ने अपने रूख का बचाव करते हुए दावा किया कि किसी को अवैध रूप से बंधक नहीं बनाया गया।

जूएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष मोहित पांडेय ने कहा, हमने जेएनयू के प्रशासनिक भवन में किसी को अवैध रूप से बंधक नहीं बनाया। बिजली और दूसरी सभी तरह की आपूर्ति है। हमने भीतर खाना भेजा है। दूसरी तरफ, पुलिस विश्वविद्यालय परिसर के बाद बाहर मौजूद है और अंदर दाखिल होने के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन की अनुमति का इंतजार कर रही है।

इससे पहले विश्वविद्यालय प्रशासन ने एक छात्र के लापता होने से संबंधित मामले में 12 छात्रों को प्रॉक्टर स्तरीय जांच समिति के समक्ष उपस्थित होने को कहा। स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी का छात्र नजीब अहमद शनिवार से कथित तौर पर लापता है। उसका लापता होने से एक रात पहले कैंपस में उसका झगड़ा हुआ था।

Top Stories