जेट एयरवेज़‌ के पाइलेट्स की तनख्वाहों में कटौती

जेट एयरवेज़‌ के पाइलेट्स की तनख्वाहों में कटौती

नई दिल्ली: भारत की दूसरी सबसे बड़ी एय‌रलाईनस कंपनी जेट एयरवेज ने जूनियर रैंक के पाइलेटस को आदेश दिया हैकि भुगतान 30 ता35 फ़ीसद कटौती के लिए सहमत हो या फिर नौकरी छोड़ दें।

सूत्रों ने बताया कि जेट एयरवेज ने मसारिफ़ में कमी लाने के उद्देश्य से पाइलेटस वेतन और स्टेफंड में भारी कटौती करने का फैसला किया है। इस निर्णय से लगभग 400 पाइलेटस पर असर पड़ेगा। सूत्रों ने बताया कि खाड़ी क्षेत्र में जारी संकट के कारण भी जेट एयरवेज पर काफी असर पड़ा।

भारत में बड़ी घरेलू एयरवेज कंपनिया जेट एयरवेज दूसरे नंबर पर है। दुनिया भर में तेजी से फलफूल रही नागरिक उड्डयन की सीमा में इस कंपनी को कम लागत हवाई कंपनियों से प्रतिस्पर्धा का सामना है। ाएंटर ग्लोब एवेशीन की इंडेगो और स्पाइस जेट सगतमें बढ़ाने के कारण जेट ईरलाईनस पर दबाव बढ़ा हो रहा है।

Top Stories