Monday , December 18 2017

जेल में भी जगन मोहन रेड्डी की मक़नातीसी कशिश बरक़रार

ग्रेटर हैदराबाद म्यूनसिंपल कारपोरेशन की नुमाइंदगी करने वाले कांग्रेस और तेलगूदेशम के 20 ता 22 कारपोरेटर वाई ऐस आर कांग्रेस के साथ राबिता में हैं और बहुत जल्द उन के वाई ऐस आर कांग्रेस में शामिल होने के इमकानात हैं।

ग्रेटर हैदराबाद म्यूनसिंपल कारपोरेशन की नुमाइंदगी करने वाले कांग्रेस और तेलगूदेशम के 20 ता 22 कारपोरेटर वाई ऐस आर कांग्रेस के साथ राबिता में हैं और बहुत जल्द उन के वाई ऐस आर कांग्रेस में शामिल होने के इमकानात हैं।

वाई ऐस आर कांग्रेस के सदर जगन मोहन रेड्डी गुज़श्ता 6 माह से जेल में हैं, मगर उन की मक़नातीसी कशिश में कोई कमी नहीं आई। कांग्रेस और तेलगूदेशम के तीन तीन अरकान असेंबली ने वाई ऐस आर कांग्रेस में शमूलीयत का ऐलान किया है।

तेलगूदेशम ने बाग़ी अरकान असेंबली को फ़ौरी असर के साथ पार्टी से मुअत्तल कर दिया,ताहम कांग्रेस ने अपने अरकान असेंबली के ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं की। कांग्रेस अरकान असेंबली ने एक और क़दम आगे बढ़ाते हुए पार्टी और असेंबली की रुकनीयत से मुस्ताफ़ी होने का ऐलान किया है,

लेकिन एस पी। कांग्रेस कारपोरेटर की नाराज़गी की असल वजह मुक़ामी अरकान असेंबली और मंत्री के साथ उन के ताल मेल और राबिता का फ़ुक़दान है, क्योंकि ग्रेटर हैदराबाद के इजलास में हर डीवेझन की तरक़्क़ी के लिए हर कारपोरेटर को एक एक करोड़ रुपये ख़र्च की मंज़ूरी दी गई है,

जिस पर कांग्रेस अरकान असेंबली ने ब्रहमी ज़ाहिर करते हुए चीफ़ मिनिस्टर से शिकायत की थी। अरकान असेंबली का एहसास है कि अगर एक एक कारपोरेटर को एक करोड़ रुपय तरक़्क़ीयाती कामों के लिए दिए गए तो उन की अहमीयत घट जाएगी और इंतिख़ाबात (चुनाव)के मौक़ा पर कारपोरेटर असेंबली के टिकट के दावेदार बन सकते हैं।

TOPPOPULARRECENT