जेल से भागने और एनकाउंटर में अगर किसी आतंकी संगठन का हाथ, तभी एनआईए करेगी जांच

जेल से भागने और एनकाउंटर में अगर किसी आतंकी संगठन का हाथ, तभी एनआईए करेगी जांच
Click for full image

भोपाल : भोपाल सेंट्रल जेल से भागे सिमी सदस्यों के मारे जाने की जांंच एनआईए तभी करेगा जब मध्‍य प्रदेश पुलिस इस बात के सबूत जुटा ले कि मारे गए सिमी सदस्यों को सीधे तौर पर कोई बाहरी आतंकी संगठन मदद कर रहा था। एक एनआईए ऑफिसर ने बताया कि,’अगर जेल तोड़कर भागने और सिमी सदस्यों के एनकाउंटर में किसी तरह से भी आतंकी संगठन का हाथ है, तभी एनआईए इस केस को अपने हाथ में लेगी। एनआईए एक्‍ट भी इस बात की इजाजत नहीं देता है। हालांकि, इन दोनों मामलों की सीबीआई जांच कर सकती है।’

गृह मंत्रालय ने साफ किया है कि राज्‍य सरकार अगर इन मामलों की जांच के लिए लिखित रूप से मांग करती है तो एनआईए जांच कराई जाएगी। यह निर्णय इन मामलों में दर्ज हुईं एफआईआर के आधार पर लिया जाएगा। भोपाल एनकाउंटर मामले की न्यायिक जांच के आदेश हालांकि, एनआईए जांच की मांग हो रही है लेकिन राज्‍य सरकार ने एनकाउंटर को सही बताते हुए ऐसा कराने से इनकार कर दिया है। सरकार जेल तोड़ने के मामले को एनआईए को सौंपने के लिए झुकती दिख रही है।

Top Stories