Sunday , December 17 2017

जे़वरात के लिए हाल मार्क की मुहर के लज़ूम की तजवीज़

ब्यूरो आफ़ इंडियन स्टैंर्डज़ (बी एस आई) ने अवामुन्नास के लिए सोने और चांदी के जे़वरात के आली मयार को यक़ीनी बनाने की ग़रज़ से उन जे़वरात में हाल मार्क की मुहर को लाज़िमी क़रार देने की तजवीज़ पेश की है।

ब्यूरो आफ़ इंडियन स्टैंर्डज़ (बी एस आई) ने अवामुन्नास के लिए सोने और चांदी के जे़वरात के आली मयार को यक़ीनी बनाने की ग़रज़ से उन जे़वरात में हाल मार्क की मुहर को लाज़िमी क़रार देने की तजवीज़ पेश की है।

इस ब्यूरो ने जनवरी 2012 तक सोने के जे़वरात के लिए 9156 और चांदी के गहनों के लिए 537 लाईसेंस जारी किए थे। इलावा अज़ीं इस ब्यूरो ने जे़वरात की जांच परख और हाल मार्क की मुहर लगाए जाने के मराकज़ के क़ियाम के लिए लाईसेंस जारी करने का मंसूबा भी तैयार किया है ताकि छोटे पैमाने पर सोने और चांदी के जे़वरात तैयार करने वाले सुनार इन मराकज़ में अपनी मसनूआत पर हाल मार्क की मुहर लगवा सकें। बी ऐस आई ने 31 जनवरी 2012 तक ऐसे 178 मराकज़ के क़ियाम की मंज़ूरी दी थी।

TOPPOPULARRECENT