Wednesday , January 24 2018

जे मंजूला, डी आर डी ओ की पहली ख़ातून डायरेक्टर जनरल

बंग्लूरू: दिफ़ाई इदारा बराए दिफ़ाई तरक़्क़ी-ओ-तहक़ीक़ (डी आर डी ओ) ने कहा कि जे मंजूला को डायरेक्टर जनरल इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड कमीवनकीशनस मुक़र्रर किया गया है। इस तरह वो इस इदारे की पहली ख़ातून सरबराह बन गई हैं। उन्होंने सरकरदा साईंसदाँ और डायरैक्टर जनरल डाँक्टर के डी नाविक से इस ओहदे का जायज़ा हासिल किया।

जो बहैसीयत डायरेक्टर जनरल इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड कम्युनिकेशन सिस्टम्स की ज़ाइद ज़िम्मेदारियाँ सँभाल रहे थे। जे मंजूला को डी आर डी ओ के इस शोबे की पहली ख़ातून डायरेक्टर जनरल मुक़र्रर किए जाने का एज़ाज़ हासिल हुआ है। वो जुलाई 2014 से डी आर डी ओ के शोबा डीफ़ैंस एव अंकुस रिसर्च इस्टेब्लिश्मेंट‌ (डियर) की क़ियादत कर रही थीं।

मंजूला अपनी मादर इलमी इदारा हैदराबाद की जामि उस्मानिया की काबुल फ़ख़र दुख़तर हैं और इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड कम्युनिकेशन इंजीनिय‌र हैं। डी आर डी ओ ने कहा है कि जे मंजूला माज़ी में हैदराबाद की डीफेंस इलेक्ट्रॉनिक्स रिसर्च लेबारेटरी में 26 साल तक ख़िदमात अंजाम दे चुकी हैं जिन्हें मरबूत इलेक्ट्रॉनिक्स पर ग़ैरमामूली दस्तरस-ओ-उबूर हासिल है।

जे मंजूला कई दिफ़ाई आलात की तज़ईन-ओ-ईजाद कर चुकी हैं जिन्हें फ़ौज के तीनों ज़मीनी, फ़िज़ाई और बहरी शोबों के अलावा नीम फ़ौजी फोर्सेस में भी शामिल किया गया है। मंजूला साल 2011 में डी आर डी ओ का कारकर्दगी-ओ-महारत ऐवार्ड भी हासिल कर चुकी हैं।

TOPPOPULARRECENT