जैन धर्मगुरु का विधानसभा में प्रवचन ,राज्यपाल से ऊँची सीट पे बैठा कर हुआ संविधान का अपमान

जैन धर्मगुरु का विधानसभा में प्रवचन ,राज्यपाल से ऊँची सीट पे बैठा कर हुआ संविधान का अपमान

हरियाणा -देश में पहली बार किसी धर्मगुरु को प्रवचन देने के लियें विधान सभा में बुलाया गया है जैन धर्मगुरु तरुण सागर ने वहां पहुंचकर धर्म, राजनीति, कन्या भ्रूण हत्या और पड़ोसी देश पाकिस्तान पर प्रवचन दिया और मोदी की नीति की जमकर तारीफ की . हरियाणा के शिक्षा मंत्री राम विलास शर्मा ने उन्हें वहां पर बोलने के लिए बुलाया था

लेकिन अब ये कार्यक्रम विवाद का हिस्सा बनता जा रहा है जैन धर्मगुरु तरुण सागर धर्म के रीति रिवाज़ के मुताबिक नग्न अवस्था में विधानसभा में पहुंचे थे जहाँ पे महिलाए भी मौजूद थी इतना ही नही धर्मगुरु की सीट गवर्नर ,सीएम और स्पीकर की सीट से काफी ऊँची थी .जो की संवैधानिक रूप से गलत है .

सोसल मीडिया पर कई एक्टिविस्ट ने किसी धर्मगुरु को विधान सभा में प्रवचन पे बुलाने की आलोचना की है उनका कहना है कि ये देश के धर्मनिरपेक्ष छवी के साथ खिलवाड़ है कई ने महिलाओ के बीच उनकी नग्न अवस्था पे नाराज़गी जाताई है साथ ही गवर्नर ,स्पीकर और सीएम से ऊँची सीट पे बैठा ने संविधान का अपमान बताया है .

Top Stories