जॉर्डन- भारत के बीच 12 समझौते पर हस्ताक्षर, रक्षा सहयोग में भी हुई डील

जॉर्डन- भारत के बीच 12 समझौते पर हस्ताक्षर, रक्षा सहयोग में भी हुई डील
Click for full image

जार्डन के शाह अब्दुल्ला बिन अल हुसैन और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ बातचीत के बाद रक्षा सहित सहयोग के 12 समझौतों पर हस्ताक्षर किये गए। पश्चिम एशियाई मुल्कों के साथ भारत के रिश्तों को प्रगाढ बनाने के प्रयासों की कड़ी के तहत जार्डन के शाह से यहां प्रधानमंत्री मोदी की बातचीत को काफी अहम माना जा रहा है।

शाह अब्दुल्ला और प्रधानमंत्री मोदी के बीच आपसी , क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मसलों पर गहन बातचीत हुई। इस बातचीत के बारे में यहां विदेश मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि आतंकवाद के मसले पर दोनों के बीच विचारों में समानता थी।

जार्डन ने भारत के साथ रक्षा क्षेत्र में सहयोग के रिश्तों को गहरा बनाने की इच्छा जाहिर की है और इस इरादे से दोनों देशों के बीच रक्षा क्षेत्र में सहयोग के नये आयाम जुड़ेंगे।

भारत के साथ रक्षा क्षेत्र में सहयोग का रिश्ता बनाने पर दोनों पक्षों के बीच पिछले साल से ही बातचीत शुरु हो गई थी जब दिसम्बर में जार्डन का एक उच्चस्तरीय रक्षा शिष्टमंडल भारत दौरे पर आया था।

इस दौरे में भारत ने अपने देश में विकसित और उत्पादित रक्षा साज सामान जार्डन को सप्लाई करने की पेशकश की है। इस इरादे से देश में बने हलका लाइट हेलीकाप्टर (एएलएच – ध्रुव) की विस्तृत जानकारी शाह अब्दुल्ला को दी गई।

अधिकारियों ने बताया कि शाह अब्दुल्ला खुद अमरीकी हमलावर हेलीकाप्टर कोबरा के पायलट रह चुके हैं इसलिये उन्होंने भारत की रक्षा उत्पादन क्षमता के बारे में जानने की रुचि दिखाई। लेकिन ध्रुव हेलीकाप्टरों के लिये जार्डन ने कोई औपचारिक अनुरोध भारत से नहीं किया है।

Top Stories