जौहरी मुआहिदा मशरिक़े वुस्ता के तहफ़्फ़ुज़ का ज़ामिन है – जॉन कैरी

जौहरी मुआहिदा मशरिक़े वुस्ता के तहफ़्फ़ुज़ का ज़ामिन है – जॉन कैरी
Click for full image

अमरीका के वज़ीरे ख़ारिजा जॉन कैरी ने कहा है कि आलमी ताक़तों और ईरान के दरमयान तय पाने वाले जौहरी मुआहिदे के नतीजे में मशरिक़े वुस्ता के तमाम ममालिक माज़ी के मुक़ाबले में ज़्यादा महफ़ूज़ होंगे।

इतवार को मिस्र के दारुल हुकूमत क़ाहिरा में सहाफ़ीयों से गुफ़्तगु करते हुए अमरीकी वज़ीरे ख़ारिजा का कहना था कि इस में कोई शक नहीं कि अगर वयाना में तय पाने वाले मुआहिदे पर मुकम्मल अमल दरआमद किया गया तो मिस्र और ख़ित्ते के दीगर तमाम ममालिक की सलामती का तहफ़्फ़ुज़ यक़ीनी हो सकेगा।

अमरीकी वज़ीरे ख़ारिजा मशरिक़े वुस्ता और जुनूबी एशिया के पाँच मुल्की दौरे के पहले मरहले में इतवार को क़ाहिरा पहुंचे थे जहां उन्हों ने अपने मिस्री हम मंसब सामा शुकरी और मिस्र के सदर अब्दुल फ़ताह अलसीसी से मुलाक़ातें की थीं।

कैरी के दौरे मशरिक़े वुस्ता का मक़सद ख़ित्ते में अमरीका के रिवायती इत्तिहादियों को ईरान के साथ तय पाने वाले मुआहिदे पर एतेमाद में लेना और मुआहिदे के लिए उन की हिमायत का हुसूल है।

Top Stories