Saturday , August 18 2018

ज्वाला गुट्टा मामले में जांच कमेटी की तश्कील

हिंदुस्तान की मशहूर खातून खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा को ताउम्र पाबंदी लगाये जाने के इंतेबाह में इंडियन बैडमिंटन यूनियन की Disciplinary Committee को साबिक और मौजूदा खिलाड़ियों की तंकीद झेलनी पड़ रही हैं ऐसे में इंडियन बैडमिंटन युनियन (बाई) ने आज इस

हिंदुस्तान की मशहूर खातून खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा को ताउम्र पाबंदी लगाये जाने के इंतेबाह में इंडियन बैडमिंटन यूनियन की Disciplinary Committee को साबिक और मौजूदा खिलाड़ियों की तंकीद झेलनी पड़ रही हैं ऐसे में इंडियन बैडमिंटन युनियन (बाई) ने आज इस मामले की जांच के लिये तीन इंडिपेंडेंट कमेटीइ मेम्बर की तकररुरी करने का फैसला किया है |

साथ ही बाई ने पैनल को एक महीने के अंदर इसकी रिपोर्ट पेश करने कहा है खबर है कि इस दौरान ज्वाला के नाम पर किसी भी कौमी या बैनुल अकवामी मैचों के लिये गौर नहीं किया जायेगा हालांकि एक दिन पहले ज्वाला के कोच सैयद मोहम्मद आरिफ ने कहा था कि वो इंसाफ के लिए कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे |

दरअसल ज्वाला पर अपनी फ्रेंचाइजी दिल्ली स्मैशर्स के कुछ खिलाड़ियों को आईबीएल में बंगा बीट्स के खिलाफ मैच में खेलने से रोकने की कोशिश करने का इल्ज़ाम है ज़राये की मानें तो आईबीएलके तनाजे में किरदार के लिए Disciplinary Committee ने ज्वाला गुट्टा पर ताउम्र पाबंदी या फिर मुकरर्र वक्त के लिए उन्हें मुअत्तल करने की सिफारिश की है |

बाई के सीनीयर आफीसर ने पीर के दिन कहा था कि इस सिफारिश की इत्तेला एसोशियेशन के मेम्बरो को दे दी गई है लेकिन अभी कोई फैसला नहीं किया गया है | वहीं बाई की Disciplinary Committee के सदर एस मुरलीधरन ने कहा कि मैं इसके बारे में ज़्यादा नहीं बोलना चाहता ये बाई के सदर अखिलेश दासगुप्ता का इख्तेयार है और बिना शर्त माफी मांगने पर ज्वाला को माफ भी किया जा सकता है, लेकिन जो हुआ इसके लिए उसे माफी मांगनी होगी |

TOPPOPULARRECENT