Friday , December 15 2017

झाबुआ ब्लास्ट का मुल्ज़िम राजेंद्र कासवा गिरफ्तार

झाबुआ: झाबुआ जिले के पेटलावद शहर के एक रेस्टरां में हुए धमाके के चार दिन बाद मंगल की देर रात को एसटीएफ ने अहम मुल्ज़िम राजेंद्र कासवा को महाराष्ट्र में गिरफ्तार कर लिया. गुजश्ता हफ्ते के रोज़ सुबह 8.30 बजे हुए डिटोनेटर धमाके में 90 लोग मारे गए थे.

पुलिस ने मंगल की देर रात को महू के पास मानपुर में कासवा की बीवी प्रमिला, बेटे शुभम और बेटी सोनिया से पूछताछ की थी. उसके बाद ही जांच टीम कासवा को पकड़ने के लिए महराष्ट्र रवाना हो गई थी.

राजेंद्र के दो भाई फूलचंद और नरेंद्र मंगल के रोज़ ही गिरफ्तार हो चुके हैं, पुलिस ने उनसे भी इस बारे में पूछताछ की थी. हालांकि सरकारी तौर पर पुलिस ने कासवा की गिरफ्तारी की तस्दीक नहीं की है और न ही इस बात से इनकार कर रही है.

इधर, राजेंद्र कासवा को ज़्यादा मिकदार में धमाका खेज मवाद देने के मुल्ज़िम धर्मेंद्र सिंह राठौर को भी एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया है. उसकी गिरफ्तारी धार जिले के बदनावर से हुई है.

पेटलावद हादसे की जांच हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज आर्येंद्र सक्सेना करेंगे. हुकूमत ने मंगल के रोज़ इस बारे में हुक्म जारी कर दिए हैं. यह एक रुकनि ईंक्वायरी कमीशन तीन महीने में अपनी रिपोर्ट हुकूमत को सौंपेगी. कमीशन का हेडक्वार्टर इंदौर होगा.

जस्टिस सक्सेना अक्टूबर 2010 से 30 जुलाई 2014 तक इंसानी हुकूक कमीशन के चेयरमैन रहे हैं. इससे पहले वे इंसनैइ हुकूक कमीशन के सदर रहे डॉ. डीएम धर्माधिकारी के मुद्दत में 9 माह मेम्बर रहे. वज़ीर ए आला शिवराज सिंह चौहान ने पेटलावद हादसे के लिए अदालती जांच कमीशन तश्कील किए जाने का ऐलान किये थे |

TOPPOPULARRECENT