झामुमो देगा उम्मीदवार, कांग्रेस-राजद तय करें

झामुमो देगा उम्मीदवार, कांग्रेस-राजद तय करें
राजद और कांग्रेस के रुख पर देर रात झामुमो में गौरखौस हुआ। वजीरे आला हेमंत सोरेन, हेमलाल मुरमु, विष्णु भैया, जयप्रकाश भाई पटेल, हाजी हुसैन अंसारी जैसे लीडरों ने बैठक की। कहा गया कि राजद नाराज है। कांग्रेस भी उम्मीदवार दे रहा है।

राजद और कांग्रेस के रुख पर देर रात झामुमो में गौरखौस हुआ। वजीरे आला हेमंत सोरेन, हेमलाल मुरमु, विष्णु भैया, जयप्रकाश भाई पटेल, हाजी हुसैन अंसारी जैसे लीडरों ने बैठक की। कहा गया कि राजद नाराज है। कांग्रेस भी उम्मीदवार दे रहा है।

आखिर में पार्टी ने तय किया कि झामुमो अपने उम्मीदवार को बनाये रखने का फैसला किया है। गेंद कांग्रेस और राजद की तरफ उछाल दिया गया है कि वे दोनों तय करें कि एक उम्मीदवार कौन होगा। बैठक में इस बात पर भी पॉलिसी बनी कि इक्तिदार दो सीट निकाल सकता है या नहीं। कहा गया कि सभी एकजुट रहे तो इसे मुमकिन किया जा सकता है।

पार्टी के तर्जुमान सुप्रियो भट्टाचार्य और विनोद पांडेय ने बताया कि रात में नॉमिनेशन की तैयारी हो रही थी। यूपीए फोल्डर में ही दोनों सीट रहे, इस पर बहस की गयी। मिस्टर भट्टाचार्य ने आजसू को घेरे में लेते हुए कहा कि जो लोग विनोद बिहारी महतो और निर्मल महतो के नाम पर सियासत करते हैं, अब वह उनके ही खानदान के उम्मीदवार को हिमायत दें। अर्जुन मुंडा भी कहते थे कि सुधीर महतो की बीवी को उम्मीदवार बनाया जाय। पार्टी ने यही किया है। अब अर्जुन मुंडा गौर करें कि कैसे सविता महतो को जिताया जा सकता है। झामुमो अपने उम्मीदवार को वापस नहीं लेगा। सबसे पहले झामुमो ने ही उम्मीदवार की ऐलान की है। अभी तक कांग्रेस और राजद ने रुख वाजेह नहीं किया है।

राजद के अल्टीमेटम की जानकारी नहीं

राजद की तरफ से अल्टीमेटम दिये जाने के मुद्दे पर मिस्टर भट्टाचार्य ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। पार्टी संजीदगी से गौर कर रही है कि दोनों ही सीटे इक्तिदार को मिले। किसी के धमकाने से पार्टी झुकती नहीं है। जो लोग कहते थे कि बाहरी और धनपशु को मौका नहीं देगा वह लोग अब मुक़ामी उम्मीदवार को मौका दें।

Top Stories