झारखंड के दुमका में मुस्लिम युवक की मॉब लिंचिंग, तीन आरोपी गिरफ्तार

झारखंड के दुमका में मुस्लिम युवक की मॉब लिंचिंग, तीन आरोपी गिरफ्तार

झारखंड के दुमका जिले में शिकारीपाड़ा और काठीकुंड थाना क्षेत्र की सीमा पर स्थित झिलीमिली गांव में सोमवार शाम को बकरी चोरी के हुई मॉब लिन्चिंग की घटना में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मंगलवार को तीन नामजद आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। बता दें, सोमवार को बकरी चोरी के आरोप में बकरी मालिक और गांव के कुछ और लोगों ने दो युवकों की जमकर पिटाई की। जिसमें एक की मौत हो गई और एक अन्य युवक गंभीर रूप से घायल हो गया।
दुमका के पुलिस अधीक्षक अंबर लकड़ा ने आज जानकारी देते हुए बताया कि भीड़ तंत्र द्वारा मॉब लिन्चिंग की घटना को अंजाम देना जघन्य अपराध है।

किसी को भी कानून को हाथ में लेने की छूट नहीं दी जाएगी। सर्वोच्च न्यायालय एवं राज्य सरकार के निर्देशानुसार इस तरह की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए पुलिस प्रशासन द्वारा आमलोगों के बीच जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इसको लेकर आमलोगों को जागरूक होने की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि सोमवार को हुई मॉब लिन्चिंग की घटना में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आज तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इसमें घटना स्थल के समीप काठीकुंड थाना क्षेत्र के निवासी और बकरी मालिक अर्जुन रजवार, मन्नान रजवार और वीरेन रजवार शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि ग्रामीणों की उग्र भीड़ द्वारा पिटाई से सुभान अंसारी नामक युवक की मौत को लेकर मृतक की पत्नी खैरुन बीबी की शिकायत पर कई धाराओं के तहत 8 से 9 लोगों को नामजद सहित 50-60 अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। जिसमें से तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

उन्होंने बताया कि इस मामले के जल्द ही जांच कर न्यायालय में चार्ज शीट दाखिल करने के लिए पुलिस उपाधीक्षक के नेतृत्व में पांच सदस्यीय विशेष जांच दल का गठन किया गया है। इसमें पुलिस निरीक्षक सह शिकारीपाड़ा के थाना प्रभारी मामले के अनुसंधान कर्ता बकार हुसैन और काठीकुंड के थाना प्रभारी साकिब तनवीर खान शामिल किए गए हैं। उन्होंने बताया कि इस घटना में संलिप्त नामजद सहित अन्य को चिन्हित कर पुलिस सभी दोषियों को शीघ्र ही गिरफ्तार कर लेगी।

साभार- नवभारत

Top Stories