Monday , December 11 2017

झारखंड के पूर्व शिक्षा मंत्री ने कहा, दूंगा गाय की बलि हिम्मत है तो रोक ले सरकार

रांची : झारखंड के पूर्व शिक्षा मंत्री व झाविमो के केंद्रीय महासचिव बंधु तिर्की ने झारखंड सरकार को चुनौती दी है. उन्होंने कहा है कि वह गाय की बलि देंगे. अगर सरकार उन्हें ऐसा करने से रोक सकती है, तो रोककर दिखाये. उन्होंने कहा कि बलि के लिए सब कुछ तैयारी कर लिया गया है. 17 फरवरी, 2018 को रांची जिला के रातू प्रखंड में स्थित बनोदरा बोंगाबुरू टोंगरी गांव में सुबह 11 बजे वह काली गाय की बलि देंगे.

झाविमो के प्रदेश कार्यालय में मीडिया से बातचीत में बंधु ने सरकार को यह चुनौती दी. उनका यह वीडियो भी वायरल हो गया है. उन्होंने कहा कि आदिवासियों में हर खूट यानी एक पीढ़ी के बाद पत्थलगड़ी की परंपरा है. जहां पत्थलगड़ी होती है, वहां काली गाय की बलि दी जाती है. यह परंपरा पीढ़ियों से चली आ रही है. कोई भी कानून परंपरा और संस्कृति को रोक नहीं सकता. उन्होंने कहा कि बचपन में भी उन्होंने एक बार गाय की बलि दी थी. फरवरी में वह दूसरी बार काली गाय की बलि देंगे.

झारखंड के पूर्व शिक्षा मंत्री ने कहा कि सरकार संविधान की बात तो करती है, लेकिन पांचवीं अनुसूची के बारे में बात नहीं करती. उन्होंने कहा कि पत्थलगड़ी का विरोध आदिवासियों का विरोध है. झारखंड में आदिवासियों का विरोध कभी बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. सरकार अगर अपने विज्ञापन और होर्डिंग्स वापस नहीं लेती है, तो आदिवासी सड़क पर उतरेंगे और सरकार को सबक सिखायेंगे.

TOPPOPULARRECENT