Sunday , September 23 2018

झारखंड : भीड़ ने मुस्लिम युवक को पीट-पीट कर मार डाला, इलाके में तनाव

रांची : झारखंड के मांडर कस्बे में नाच-गाने से मना करने पर भीड़ ने एक मुस्लिम युवक की पीट-पीट कर हत्या कर दी. इसके बाद इलाके में तनाव है. इस घटना में इसी समुदाय के दो और युवक घायल हुए हैं, जिनका इलाज चल रहा है. इलाके में अतिरिक्त पुलिस बलों की तैनाती की गई है. घटना झारखंड की राजधानी रांची से करीब तीस किलोमीटर दूर की है. मारे गए युवक का नाम वसीम अंसारी है, जबकि इस घटना में नुरूल अंसारी और मन्नान अंसारी घायल हुए हैं. सभी लोग मांडर स्थित बाजार टांड़ के रहने वाले हैं. पुलिस के मुताबिक हालात नियंत्रण में हैं और हमलावरों की पहचान के साथ गिरफ्तारी के लिए छापामारी अभियान चलाया जा रहा है.

जानकारी के मुताबिक मांडर के पतराकोना चंदाबारी में एक जनवरी को युवकों के अलग-अलग समूह में नए साल पर पार्टी कर रहे थे. इस मौके पर वो लोग बाजे के साथ नाच-गाना भी कर रहे थे.  जिस जगह पर घटना हुई है, वह कब्रिस्तान से सटा है. इस जगह पर नाच-गाना करने के साथ भीड़ धमाल मचा रही थी. वसीम अंसारी कुछ दोस्तों के साथ वहां पहुंचे और युवकों की भीड़ से नाच-गाना करने को मना किया. इस बात पर नाच-गाना करने वाले लोगों की भीड़ ने उन पर हमला बोल दिया. नुरूल और मन्नान भागने में सफल रहे, वरना वे दोनों भी मारे जाते.

इस घटना के बाद मांडर बाजार टांड़ के गुस्साए लोगों ने रात में दूसरे गांव चटवल के घरों में हमला किया. आरोप है कि नाच-गाना और हमले करने वाले चटवल के ही थे. इस घटना में आदिवासी समुदाय के तीन लोगों के घायल होने की खबर है.

गांव के हसीबुल अंसारी का आरोप है कि सिर्फ़ लोहे की छोलनी से नहीं बल्कि भीड़ ने बुरे तरीके से वसीम की हत्या की है. लाश की हालत देखने से ही सारा माजरा समझ में आता है.

हसीब का दावा है कि चटवल गांव के युवकों ने इस घटना को अंजाम दिया है. उन्हें यह कहने से भी गुरेज नहीं कि यहां भीड़ द्वारा अक्सर किसी निर्दोष को मारे जाने का चलन हो गया है.

पुलिस और प्रशासन का कहना है कि अभी इन सवालों पर जांच बाकी है. उनकी प्राथमिकता घायलों का इलाज कराना, गुस्साये लोगों को समझाना तथा पीड़ित परिवार की मदद करना है.

TOPPOPULARRECENT