Tuesday , December 19 2017

झारखंड में इंतिख़ाब दिसंबर में कराने की तैयारी, चार रियासतों में एक साथ नहीं होंगे इंतिख़ाब

अगले चार महीनों में चार एसेम्बली का मुद्दत खत्म होने वाला है। लेकिन इनके इंतिख़ाब साथ नहीं होंगे। महाराष्ट्र-हरियाणा में इंतिख़ाब अक्टूबर में होंगे। जबकि झारखंड और जम्मू-कश्मीर में दिसंबर में। इस वक़्त इंतिख़ाब कमीशन और वज़ारत दाखल

अगले चार महीनों में चार एसेम्बली का मुद्दत खत्म होने वाला है। लेकिन इनके इंतिख़ाब साथ नहीं होंगे। महाराष्ट्र-हरियाणा में इंतिख़ाब अक्टूबर में होंगे। जबकि झारखंड और जम्मू-कश्मीर में दिसंबर में। इस वक़्त इंतिख़ाब कमीशन और वज़ारत दाखला इंतिखाबी रियासतों में सेक्युर्टी फोर्स की जरूरत की तजवीज कर रहे हैं। एलेक्शन कमीशन तारीखों का मुकर्रर पर गौर कर रही है।

एक साथ इंतिख़ाब क्यों नहीं

जम्मू-कश्मीर और झारखंड एसेम्बली का मुद्दत जनवरी में खत्म हो रहा है। ऐसे में इंतिख़ाब दिसंबर में भी कराए जा सकते हैं। इंतिख़ाब अलग-अलग कराने की बड़ी वजह सेक्युर्टी फोर्स की मौजूदगी है। नवरात्र, दशहरा और दिवाली की वजह से इजाफ़ी सेक्युर्टी फोर्स की निजाम मुश्किल है। नक्सलवाद से जूझ रहे झारखंड में गुजिशता इंतिख़ाब में पांच मरहला में वोटिंग हुई थी।

TOPPOPULARRECENT