Monday , December 18 2017

झारखंड में बी जे पी हुकूमत अक़लीयत में आ गई

रांची, 08 जनवरी:(पीटीआई)झारखंड की हुक्मराँ इत्तिहादी हलीफ़ जे एम एम ने अर्जुन मुंडा की ज़ेर-ए-क़ियादत बी जे पी हुकूमत की ताईद से दस्तबरदारी का फ़ैसला किया है। इस तरह रियासत में बी जे पी हुकूमत अक़लीयत में आ गई है और दोनों हलीफ़ जमातों के मा

रांची, 08 जनवरी:(पीटीआई)झारखंड की हुक्मराँ इत्तिहादी हलीफ़ जे एम एम ने अर्जुन मुंडा की ज़ेर-ए-क़ियादत बी जे पी हुकूमत की ताईद से दस्तबरदारी का फ़ैसला किया है। इस तरह रियासत में बी जे पी हुकूमत अक़लीयत में आ गई है और दोनों हलीफ़ जमातों के माबैन इक़तिदार के लिए रसाकशी एक नया मोड़ इख्तेयार कर गई ।

जय एम एम लीडर और डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर हेमंत सोरेन ने कहा कि पार्टी की आमिला कमेटी इजलास में मुत्तफ़िक़ा तौर पर ये फ़ैसला किया गया है । उन्होंने बताया कि बी जे पी के कई क़ाइदीन बिशमोल झारखंड उमूर् इंचार्ज धर्मेन्द्र प्रधान से भी बात की गई । आज रात देर गए बी जे पी की रियासती कोर कमेटी का इजलास मुनाक़िद हुआ जिसमें प्रधान के इलावा सीनीयर लीडर यशवंत सिन्हा ने शिरकत की और ताज़ा सूरत-ए-हाल पर तबादला-ए-ख़्याल किया गया ।

जे एम एम ने कई इजलास मुनाक़िद करने के बाद बी जे पी ज़ेर-ए-क़ियादत हुकूमत की ताईद से दस्तबरदार होने का फ़ैसला किया है । जे एम एम सरबराह शीबो सूरेन ने बताया कि कल गवर्नर सैयद अहमद से मुलाक़ात कर के हुकूमत की ताईद से दस्तबरदारी के फ़ैसले पर मबनी मकतूब पेश किया जाएगा ।

82रुकनी रियास्ती असेंबली में बी जे पी और जे एम एम के फी कस 18 अरकान हैं । ऑल झारखंड स्टूडेट्स यूनीयन के 6 अरकान जनतादल यू के 2 आज़ाद 2और एक नामज़द रुकन की भी मुंडा हुकूमत को ताईद हासिल है । अपोज़ीशन कांग्रेस के अरकान की तादाद 3 है जब कि झारखंड विकास मोरचा (पी) के 11और आर जे डी के असेंबली में पाँच अरकान हैं ।

क़ब्लअज़ीं मुंडा ने शीबू सोरेन से मुलाक़ात की और रियासत की सयासी सूरत-ए-हाल पर तबादला-ए-ख़्याल किया । जे एम एम ने बी जे पी क़ाइदीन से बाअज़ मसाइल पर फ़ोन पर बात की इन में इक़तिदार ( शासन) की मुक़र्ररा वक़्त पर तबदीली का मसला भी शामिल है । बी जे पी के लिए 28 माह तक इक़तिदार की मुद्दत 10 जनवरी को ख़त्म हो रही है ।

बी जे पी और जे एम एम के माबैन बाहमी ताल्लुक़ात उस वक़्त कशीदा हो गए जब चीफ़ मिनिस्टर अर्जुन मुंडा ने 3 जनवरी को जे एम एम के मकतूब के जवाब में कहा था कि दोनों पार्टीयों के माबैन इक़तिदार की तबदीली का कोई मुआहिदा नहीं है । जे एम एम का ये इस्तिदलाल है कि इक्तेदार ( शासन) की 28 माह के बाद मुंतक़ली का पहले से मुआहिदा मौजूद है चुनांचे हेमंत सोरेन ने 25 दिसंबर को अर्जुन मुंडा को मकतूब रवाना करते हुए बी जे पी के मौक़िफ़ पर वज़ाहत तलब की थी ।

हेमंत सोरेन ने कहा कि अगर बी जे पी उन मसाइल पर मुसबत रद्द-ए-अमल का इज़हार करती है तो हम ताईद से दस्तबरदारी के फ़ैसले पर नज़रेसानी कर सकते हैं । उन्होंने कहा कि दोनों जमातों के माबैन बाहमी राबते का फ़ुक़दान ( कमी) पाया जाता है ।

TOPPOPULARRECENT