Saturday , December 16 2017

झारखंड में लगातार चार दिनों की बारिश में 16 कई मौत

रांची : झारखंड में लगातार चार दिनों की बारिश के बाद बुधवार कुछ जिलों के लिए हल्की राहत लेकर आयी. हालांकि इस दौरान लोहरदगा, रामगढ़ में छह लोग बह गये. रांची और खूंटी में दीवार िगरने से दो लोगों की मौत हो गयी.  धनबाद, जमशेदपुर, बोकारो, हजारीबाग, रामगढ़  आदि जिलों में बुधवार को बारिश रुक गयी. हालांकि दिन भर घने बादल छाये रहे.

मेदिनीनगर, गढ़वा और लातेहार में बुधवार को भी भारी बारिश हुई. लोहरदगा जिले के सिठियो में कोयल नदी में एक एंबुलेंस बह गयी. इसमें सवार चार लोग बह गये. सभी पलामू जिले के डुमरी चैनपुर के रहनेवाले थे. इलाज कराने रांची आ रहे थे. मरनेवालों में गोपाल प्रसाद (55), पत्नी शांति देवी (50), भतीजा कौशल कुमार रजक (25) व बेटी आभा प्रिया (18) शामिल हैं. एंबुलेंस में सवार गोपाल प्रसाद के दामाद राकेश कुमार रजक और ड्राइवर गौतम कुमार पहले की बाहर निकल चुके थे. घटना बुधवार तड़के 4.30 बजे की है.

बताया जाता है कि सभी गोपाल प्रसाद के ब्रेन हेमरेज का इलाज कराने रांची जा रहे थे. सिठियो में कोयल नदी का पानी सड़क से चार फीट ऊपर बह रहा है. रांची-लोहरदगा मार्ग बंद हो गया है.

रामगढ़ में गोला-चारु पथ पर बरियातू सेनेगढ़ा पुलिया पार करने के दौरान होंडा सिटी कार (जेएच01सीएल-6513) डूब गयी. इसमें सवार बोकारो के कथारा निवासी दो छात्र ओसामा सिद्दकी उर्फ अमीर (22, पिता जैनुल ओबेदीन ) और सुभाष मिश्रा (20, पिता बीएन मिश्रा) की डूब कर मौत हो गयी.

घटना मंगलवार देर रात की है. बुधवार को गोताखोरों ने दोनों के शवों को निकाला. दोनों छात्र रांची में पढ़ाई करते थे. बीकॉम पार्ट वन में पढ़ते थे. रांची से कथारा जा रहे थे. रामगढ़ में ही बुधवार शाम आरती के बाद मां छिन्नमस्तिके मंदिर को बंद कर दिया गया.

भैरवी और दामोदर नदी का जलस्तर बढ़ने के कारण मुख्य मंदिर की सीढ़ियों तक बाढ़ का पानी पहुंच गया है. पुजारियों के अनुसार, 41 वर्ष के बाद यहां इस तरह की बाढ़ आयी है. इससे  पहले 1976 में ऐसी स्थिति उत्पन्न हुई थी. बाढ़ के कारण बलि स्थल,  मुंडन शाला, नारियल बलि स्थल, क्यू कॉम्प्लेक्स, रजरप्पा न्यास समिति  कार्यालय व धर्मशाला सहित सैकड़ों दुकानें जलमग्न हो गये हैं. मंदिर न्यास समिति को लगभग 25 लाख रुपया का नुकसान हुआ है. गढ़वा के रंका में मंगलवार रात  दमारन कंठा नदी में  मरीज को लेकर जा रही कमांडर जीप तेज बहाव बह गयी. करीब 20  मीटर तक बहने के बाद  एक पत्थर में फंस  गयी. मरीज सहित आठ लोग बाल-बाल बचे.

रांची में छिटपुट बारिश के बीच कोकर के ढेलाटाेली इलाके में एक नवनिर्मित अपार्टमेंट गिर गया. मांडर के उचरी गांव में दीवार गिरने से मनोज तिर्की (35) की मौत हो गयी. खूंटी के जन्नतनगर में मिट्टी का घर ढह जाने से गृहस्वामी सलीम खां (42) की मौत हो गयी. उसकी पत्नी रूबी खातून व बेटी साहिबा को चोटें आयी हैं.

 

केंद्रीय गृह विभाग की चेतावनी

केंद्रीय  गृह विभाग ने झारखंड, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश में अगले 24 घंटे के दौरान  भारी बारिश की चेतावनी दी है. विभाग ने संबंधित राज्यों के मुख्य सचिवों  को पत्र भेज कर स्थिति पर नजर रखने और सुरक्षात्मक उपाय करने का निर्देश  दिया है. हालात की जानकारी कंट्रोल रूम को( फोन-  23093563,23093564,23093750,23092398) पर देने का निर्देश दिया है. विभाग  के पत्र में झारखंड में अति कम दबाव का क्षेत्र बनने और इसका केंद्र  डालटेनगंज के आसपास होने की बात कही गयी है. झारखंड के दक्षिण- पश्चिम में  भारी बारिश होने का साथ साथ 40-50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा भी  चल सकती है.

TOPPOPULARRECENT