झारखंड में हिंसक विरोध प्रदर्शन, जांच का सरकारी आदेश

झारखंड में हिंसक विरोध प्रदर्शन, जांच का सरकारी आदेश
Click for full image

रामगढ़ (झारखंड): 2 लोग मारे गए और अन्य कम से कम 24 लोग घायल हो गए जबकि ग्रामीण जनता ने विस्थापित लोगों को जिनका संबंध घरेलू विभाग के विद्युत ऊर्जा निर्माता था मुआवजा अदा न करने के खिलाफ विरोध करने वाले जिले रामगढ़ के गोला ब्लॉक में हिंसक हो गया जिस पर पुलिस फायरिंग करने पर मजबूर हो गई।

घायल होने वालों में जिला अधिकारी और कई कर्मचारि पुलिस भी शामिल हैं। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि शिखर निकासी प्रणाली जो नदी सीने गढ़ में स्थित है, हमले का निशाना बनाया गया है। जिला अधिकारियों ने जो स्थान वारदात पर मौजूद थे कि पुलिस फायरिंग करने पर मजबूर हो गई जिससे एक व्यक्ति की मौत हो गई और भगदड़ जैसी स्थिति में दूसरा व्यक्ति मारा गया।

सपा एम टमल विनी ने कहा कि विरोध व्यक्तियाँ जिला अधिकारी हैं। इनमें डिप्टी कलेक्टर भूमि सुधार गोरनग महतो और बीडीओ दिनेश प्रसाद सरीन भी शामिल हैं, कम से कम 24 लोग भगदड़ जैसी स्थिति में जो पुलिस फायरिंग के बाद पैदा हुई थी घायल हो गए। घायल होने वाले लोगों में से कुछ कर्मचारियों पुलिस को स्थानीय अस्पतालों में भर्ती कराया गया। हालांकि वहां से उन्हें राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसीस रांची रवाना कर दिया गया।

फायरिंग के बाद ग्रामीण जनता ने सरकारी वाहनों को आग लगा दी और रांची। सरकार ने घटना की जांच के आदेश दे दिया है।

Top Stories