Wednesday , December 13 2017

टीईटी-एसटीईटी पास तालिबे इल्म पर बरसीं लाठियां

दारुल हुकूमत के डाकबंगला चौराहे पर बुध की दोपहर टीईटी-एसटीईटी पास उम्मीदवारों की तरफ से निकाली गयी रैली पर पटना पुलिस और मुजाहिरीन के दरमियान हुई तीखी नोक-झोंक में एक दर्जन उम्मीदवार ज़ख्मी हो गए। वहीं आधा दर्जन लोगों को गिरफ्तार

दारुल हुकूमत के डाकबंगला चौराहे पर बुध की दोपहर टीईटी-एसटीईटी पास उम्मीदवारों की तरफ से निकाली गयी रैली पर पटना पुलिस और मुजाहिरीन के दरमियान हुई तीखी नोक-झोंक में एक दर्जन उम्मीदवार ज़ख्मी हो गए। वहीं आधा दर्जन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। यूनियन के रियासती सदर मार्कण्डेय पाठक ने बताया कि बुध को साबिक़ ऐलान प्रोग्राम के मुताबिक रैली का एंकाद किया गया था। इस दौरान डाकबंगला चौराहे पर मुजाहिरीन हुकूमत मुखालिफत नारेबाजी कर रहे थे और तालीम वज़ीर से मिलने की बात पर अड़े थे।

इस दौरान पुलिस और मुजाहिरीन के दरमियान तीखी नोक-झोंक में एक दर्जन लोग ज़ख्मी हो गए। वहीं पुलिस ने आधा दर्जन लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पाठक ने बताया कि हुकूमत की जबरदाना पॉलिसी के मुखालिफत में जुमेरात को पूरे रियासत में काला दिवस मनाया जाएगा। उन्होेंने बताया कि साबिक़ वजीरे आला नीतीश कुमार के राबता सफर का मुखालिफत भी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मार्च का कियादत जद (यू) के बर्खास्त एमएलए नीरज कुमार बबलू और भाकपा (माले) के मरकज़ी कमिटी के सदस्य सरोज चौबे कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि पुलिस की तरफ से किए गए जानलेवा हमले में एक दर्जन लोग ज़ख्मी हो गये हैं जिनमें चार खातून भी शामिल हैं। वहीं गिरफ्तार लोगों में खजांची सदर रविशंकर, अमरेन्द्र कुमार और अवधेश लाल यादव हैं। दीगर तीन लोगों के नाम की जानकारी अभी नहीं मिल पायी है। मालूम हो कि अपनी मांगों को लेकर बीते नौ दिन से टीईटी- एसटीईटी पास उम्मीदवार दारुल हुकूमत के करगिल चौक पर आमरण अनशन पर बैठे हुए हैं।

मंगल को एसकेएम में रियासती सतह के तालीम दिवस के मौके पर मुनक्कीद कल्चरल प्रोग्राम के दौरान अचानक नारेबाजी करते आदोलनकारी हॉल के अंदर घुस गये थे। वहीं सेक्युर्टी में लगे गार्ड और पुलिस मुलाज़िम खामोश तमाशा देख रहरे थे। वहीं दूसरी तरफ बिहार पंचायत शहर असातीजा यूनियन ने पुलिस की तरफ से की गयी बर्बर लाठीचार्ज को तानाशाही कदम बताया है। रियासती सेक्रेटरी आनंद कौशल सिंह ने इस वाकिया को बेहद अफसोशनाक बताते हुए बेगुनाह लोगों की रिहाई की मांग की है।

TOPPOPULARRECENT