Thursday , April 19 2018

टीचर ट्रेनिंग कॉलेजों में बहाल होंगे 1672 असातिज़ा

सूबे के टीचर ट्रेनिंग कॉलेजों में 1672 असातिज़ा, प्रिंसिपल और डाइरेक्टर की बहाली होगी। लोकसभा इंतिख़ाब के बाद अमल शुरू होगी। इनकी तकर्रुरी चार ग्रेड पे पर होनी है। तालीम महकमा इसकी तैयारी कर रहा है।

सूबे के टीचर ट्रेनिंग कॉलेजों में 1672 असातिज़ा, प्रिंसिपल और डाइरेक्टर की बहाली होगी। लोकसभा इंतिख़ाब के बाद अमल शुरू होगी। इनकी तकर्रुरी चार ग्रेड पे पर होनी है। तालीम महकमा इसकी तैयारी कर रहा है।

फिलहाल डाइरेक्टर के एक, प्रिंसिपल के 33, सीनियर प्रोफेससर के 21 और प्रोफेससर के 750 ओहदे हैं। तालीमी कॉलेजों के लिए 21 डाइरेक्टर, जाइंट डाइरेक्टर व प्रोफेसर की बहाली होगी, जबकि 110 प्रिंसिपल और गार्ड की तकर्रुरी होंगे। इनके अलावा 481 सीनियर प्रोफेससर और प्राइमरी असातिज़ा तालीमी कॉलेजों में 1060 प्रोफेसरों की बहाली होगी।

तालीमी तरबियत अदारों में बहाल होने वाले डाइरेक्टर, प्रिंसिपल, सीनियर प्रोफेससर व प्रोफेसरों की तंख्वाह भी कम मिलेगा। डाइरेक्टर, जाइंट डाइरेक्टर, प्रोफेसर को पे ग्रेड 8700 रुपये, प्रिंसिपल को 7600 रुपये, सीनियर प्रोफेसर को 6600 रुपये और प्राइमरी असातिज़ा तालीमी कॉलेजों के प्रोफेसर को 4800 रुपये का पे ग्रेड दिया जायेगा।

प्रोफेसरों को चार साल बाद 5400 रुपये के पे ग्रेड पर अपग्रेड भी कर दिया जायेगा। तालीम महकमा फिलहाल तालीमी तरबियत कॉलेजों के प्रिंसिपल को 12000-16500 रुपये, सीनियर प्रोफेसरों को 10000-15200 और प्रोफेसरों को 6500-10500 रुपये का पे स्केल मिल रहा है। ज़ाब्ता एखलाक की वजह से इसकी ऐलान नहीं हो रही है। इंतिख़ाब के बाद बाकायदा इसकी अमल शुरू होगी।

TOPPOPULARRECENT