टीपू जयंती पर कुमारस्वामी ने कहा- ‘बीजेपी अगर नहीं शामिल होना चाहती तो नहीं हो’

टीपू जयंती पर कुमारस्वामी ने कहा- ‘बीजेपी अगर नहीं शामिल होना चाहती तो नहीं हो’

कर्नाटक में पिछले साल की तरह इस साल भी टीपू सुल्तान की जयंती पर विवाद बढ़ता नजर आ रहा है। एक तरफ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) जयंती के खिलाफ विरोध प्रदर्शन पर अड़ी है, तो दूसरी ओर जेडीएस-कांग्रेस की गठबंधन सरकार भव्य तरीके से जयंती मनाने की तैयारियों में लग गई है।

जयंती मनाने के खिलाफ कर्नाटक हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका भी डाली गई है जिस पर कोर्ट ने याची को 9 नवंबर तक अपनी शिकायतें दर्ज करने का निर्देश दिया है।

पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया ने टीपू सुल्तान की जयंती मनाने को लेकर मीडिया से कहा कि पिछले 3 साल से यह आयोजन होता रहा है और इस साल भी होगा। सिद्धारमैया के मुताबिक मौजूदा मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने इसकी इजाजत भी दे दी है।

टीपू सुल्‍तान जयंती मनाने को लेकर उठे विवाद के बारे में उन्‍होंने कहा, मैंने कभी टीपू सुल्‍तान की जयंती मनाने या नहीं मनाने की बात नहीं की। मैंने हमेशा से यह कहा है कि देश में बहुत से समुदाय हैं और लोग अपने नेताओं और चहेतों की जयंती मनाना चाहती है।

अगर बीजेपी और उसके नेता ऐसा नहीं करना चाहते या इस तरह के किसी कार्यक्रम में शामिल नहीं होना चाहते तो कोई जरूरत नहीं है उनके आने की।

बता दें कि मंगलवार को उपचुनाव की मतगणना में कांग्रेस गठबंधन को लोकसभा की दो और विधानसभा की दो सीटें हासिल हुईं, वहीं बीजेपी को केवल एक लोकसभा सीट से संतोष करना पड़ा।

Top Stories