Wednesday , December 13 2017

टीपू सुलतान के खिलाफ संघ का रवैया चौंकाने वाला: हुसैन दलवाई

मुंबई: हाल में कर्नाटक में प्रसिद्ध योद्धा टीपू सुलतान के बारे में भाजपा और संघ परिवार के नेताओं के विवादित बयानों पर कांग्रेस के सिनियर नेता और राज्यसभा सदस्य हुसैन दलवाई  ने दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए कहा है कि राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री बयान के बाद इन नेताओं को अपना रवैया बदलना चाहिए।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति कोविंद ने टीपू सुलतान को एक ऐसा योद्धा क़रार दिया है जिसने मैदान-ए-जंग में डट कर मुक़ाबला किया और लड‌ते हुए अपने आप को शहीद‌ किया ,जिसका इक़रार ख़ुद अंग्रेज़ों ने भी किया है। जबकि इतिहास गवाह है कि टीपू अपनों की गद्दारी का शिकार हूए थे। हुसैन दलवाई ने कहा कि टीपू सुलतान पर हिंदू विरोधी होने का इल्ज़ाम सरासर ग़लत और बे-बुनियाद है ,बल्कि ऐसी शहादत मिलती हैं कि उन्होंने मंदिर के निर्माण में सहयोग किया और उन्हें ज़मीनें भी अलाट की गईं।

इसी तरह जो कुछ मामलों उनसे कारण किए जाते हैं उनके बारे में कहा जा सकता है कि वह राजनीतिक प्रकृति के थे और अन्य जातियों के इशारे परकाररवाई की गई थी जबकि यह भी सच्चाई है कि सर रंगा पटनम का मंदिर उन्होंने दुबारा तामीर किया था। देश‌ में इस तरह की ग़लत बातें तोड़मरोड़ कर पेश किए जाने से सांप्रदायिक सद्भाव को नुकसान पहुंचा रहा है, इसलिए राजनीतिक नेताओं को आपसी बंधुत्व और आवृत्ति तीव्र के लिए ऐसे बयानों को देने से बचना चाहिए।

TOPPOPULARRECENT