Monday , December 18 2017

टी आर एस अरकाने असेम्बली की मुअत्तली पर लेजिसलेचर पार्टी की बरहमी,आनधराई हुकूमत तेलंगाना की आवाज़ को दबा रही है : ई राजिंदर

हैदराबाद । 18 जून । ( सियासत न्यूज़ ) टी आर एस अरकाने असेम्बली की आज 2 दिन केलिए असेम्बली से मुअत्तली पर लेजिसलेचर पार्टी ने शदीद बरहमी का इज़हार किया। पार्टी के फ़्लोर लीडर ई राजिंदर ने अख़बारी नुमाइंदों से बात चीत करते हुए कहा कि आनधर

हैदराबाद । 18 जून । ( सियासत न्यूज़ ) टी आर एस अरकाने असेम्बली की आज 2 दिन केलिए असेम्बली से मुअत्तली पर लेजिसलेचर पार्टी ने शदीद बरहमी का इज़हार किया। पार्टी के फ़्लोर लीडर ई राजिंदर ने अख़बारी नुमाइंदों से बात चीत करते हुए कहा कि आनधराई हुकूमत ने तेलंगाना की आवाज़ दबाने के लिए एवान से तेलंगाना अरकाने असेम्बली को मुअत्तल कर दिया है ।

इस तरह सीमा आंध्रा क़ाइदीन ने अपने मुख़ालिफ़ तेलंगाना जज़बात का मुज़ाहरा किया है । ई राजिंदर ने कहा कि टी आर एस अरकाने असेम्बली को मुअत्तल करते हुए सीमा आंध्र हुकूमत असेम्बली की कार्रवाई चलाना चाहती है ताकि असेम्बली पर सीमा आंध्रा अरकान का क़बज़ा रहे और तेलंगाना के बारे में आवाज़ उठाने वाला कोई ना हो।

उन्होंने कहा कि मुवाफ़िक़ तेलंगाना अरकान की मुअत्तली के बाद एवान में तेलंगाना के हामी अरकान बाक़ी नहीं रहे। तेलगुदेशम और वाई एस आर कांग्रेस भी मुख़ालिफ़ तेलंगाना जमाअतें हैं। इस तरह मौजूदा एवान मुख़ालिफ़ तेलंगाना एवान बन चुका है। उन्होंने कहा चूँकि ये रियासती असेम्बली का आख़िरी बजट इजलास है लिहाज़ा टी आर एस ने अलहदा तेलंगाना के हक़ में क़रारदाद की मंज़ूरी की मांग की थी और इस मुतालिबे के हक़ में एवान की कार्रवाई में रुकावट पैदा की गई ।

उन्होंने कहा कि एक तरफ़ कांग्रेस और तेलगुदेशम अलहदा तेलंगाना की ताईद का दावा करते हैं लेकिन एवान में क़रारदाद की मंज़ूरी से किसी को इत्तेफ़ाक़ नहीं। अगर ये जमाअतें क़रारदाद के हक़ में होतीं तो टी आर इस ने तजवीज़ पेश की थी कि वो अंदरून 5 मिनट क़रारदाद की मंज़ूरी के बाद इवान की कार्रवाई चलाने में तआवुन करेंगे ।

उन्होंने बताया कि चलो असेम्बली एहतेजाज के दौरान पुलिस की जानिब से तेलंगाना हामियों पर किए गए मज़ालिम और बड़े पैमाने पर गिरफ्तारियों के मसले पर टी आर एस ने मुबाहिस का मुतालिबा किया लेकिन स्पीकर ने फ़्लोर लीडर्स के इजलास में मुबाहिस की इजाज़त देने से इनकार करदिया।

तमाम आनधराई जमाअतें मुत्तहिद होगईं और उन्होंने टी आर इस और बी जे पी अरकान को एवान से बाहर कर दिया। उन्होंने कहा कि चीफ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी को चाहीए था कि वो कांग्रेस हाईकमान की तरफ‌ से अलहदा तेलंगाना के हक़ में दीए गए बयान के मुताबिक़ असेम्बली में क़रारदाद मंज़ूर करते ताकि एवान की कार्रवाई पुरसुकून अंदाज़ में चलाई जा सके।

साबिक़ में जिस वक़्त रोशिया चीफ मिनिस्टर थे उस वक़्त भी उन्होंने असेम्बली में क़रारदाद की मंज़ूरी से इनकार करदिया था। उन्होंने स्पीकर के रवैय्ये पर तन्क़ीद की और कहा कि गुज़िश्ता 5 दिनों के दौरान स्पीकर ने टी आर एस के अरकान को पाँच मिनट भी बात करने की इजाज़त नहीं दी।

ई राजिंदर ने धमकी दी कि असेम्बली में अलहदा तेलंगाना क़रारदाद के हक़ में तेलंगाना के कांग्रेस क़ाइदीन की ख़ामोशी के ख़िलाफ़ से गाव‌ गाव‌ में कांग्रेस क़ाइदीन का बाईकॉट किया जाएगा। टी आर एस कांग्रेस के तेलंगाना क़ाइदीन को गाँव‌ में दाख़िल होने नहीं देगी। इन क़ाइदीन का जगह जगह घेराव‌ किया जाएगा ।

तेलंगाना वुज़रा और अरकाने असेम्बली अवाम के दरमियान जाने की सूरत में उन्हें अवामी बरहमी का सामना करना पड़ सकता है। टी आर एस अवाम से अपील करेगी कि वो अवामी नुमाइंदों से तेलंगाना के बारे में मौक़िफ़ दरयाफ़त करें। टी आर एस ने तेलंगाना वुज़रा और अरकान असेम्बली से मुतालिबा किया कि वो अवामी जज़बात का एहतेराम करते हुए पार्टी से अलेहदगी इख़तेयार करें और तहरीक से वाबस्ता हो जाएं।

TOPPOPULARRECENT