Monday , December 18 2017

टी आर एस की फ़लाही-ओ-तरक़्क़ीयाती स्कीमात मक़बूल

हैदराबाद 05 दिसंबर: इन्फ़ार्मेशन टेक्नालोजी के टी रामा राव‌ ने कहा कि टी आर एस में दुसरे जमातों के क़ाइदीन को जबरन या हरासाँ करते हुए शमूलीयत का इल्ज़ाम बे-बुनियाद है।

उन्होंने दावा किया कि टी आर एस हुकूमत की फ़लाही और तरक़्क़ीयाती स्कीमात से मुतास्सिर हो कर तेलुगू देशम और कांग्रेस के अवामी नुमाइंदों ने टी आर एस में शमूलीयत इख़तियार की।

मीडीया के नुमाइंदों से बातचीत करते हुए के टी रामा राव‌ ने कहा कि टी आर एस में शमूलीयत इख़तियार करने वाले छोटे बच्चे या मामूली सतह के क़ाइदीन नहीं हैं। जिन क़ाइदीन ने शिरकत की वो वुज़रा की हैसियत से फ़राइज़ अंजाम दे चुके हैं और उन्हें अवामी ख़िदमत का वसीअ-तर तजुर्बा है।

उन्होंने कहा कि तीन से चार मर्तबा मुंतख़ब होने वाले क़ाइदीन ने टी आर एस में शमूलीयत इख़तियार की और वाज़िह कर दिया कि वो किसी लालच या जबर से नहीं बल्के हुकूमत की स्कीमात से मुतास्सिर हो कर शामिल हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि तजरुबेकार सियासतदानों और अवामी मुंतख़ब नुमाइंदों को हरासाँ करने का इल्ज़ाम बे-बुनियाद है और कोई भी इस पर भरोसा नहीं करेगा।

के टी आर ने तेलुगू देशम और कांग्रेस क़ाइदीन की शमूलीयत की ताईद की और कहा कि एक पार्टी से दूसरी पार्टी में शमूलीयत कोई नई बात नहीं है साबिक़ में भी इस तरह क़ाइदीन दुसरे जमातों में शामिल हो चुके हैं।

TOPPOPULARRECENT