Wednesday , September 26 2018

टी आर एस को इक़्तेदार से वादों पर अमल यक़ीनी

अलाहिदा रियासत तेलंगाना में अक़लीयतों के बाशमोल पसमांदगी का शिकार दीगर तबक़ात को आबादी और पसमांदगी के तनासुब से तहफ़्फुज़ात को लाज़िमी क़रार देते हुए रुक्न क़ानूनसाज़ कौंसिल वो टी आर एस पोलिट ब्यूरो रुक्न स्वामी गौड़ ने कहा कि जम्हूर

अलाहिदा रियासत तेलंगाना में अक़लीयतों के बाशमोल पसमांदगी का शिकार दीगर तबक़ात को आबादी और पसमांदगी के तनासुब से तहफ़्फुज़ात को लाज़िमी क़रार देते हुए रुक्न क़ानूनसाज़ कौंसिल वो टी आर एस पोलिट ब्यूरो रुक्न स्वामी गौड़ ने कहा कि जम्हूरीयत के फ़रोग़ और समाजी मुसावात को आम करने के लिए पसमांदगी का शिकार तबक़ात के साथ इंसाफ़ लाज़िमी है।

स्वामी गौड़ ने कहा कि मुत्तहदा रियासत आंध्र प्रदेश क़ायम होने के साथ ही मुनज़्ज़म अंदाज़ में इलाक़ा तेलंगाना के मुसलमानों को पसमांदगी का शिकार बनाया गया।

उन्हों ने कहा कि ज़िंदगी के तमाम शोबों में मुसलमानों को आबादी के तनासुब से तहफ़्फुज़ात फ़राहम करने की आज भी तेलंगाना राष़्ट्रा ये समीती पाबंद है और 2014 के आम इंतिख़ाबात के बाद टी आर एस पार्टी सब से पहले मुसलमानों के साथ पसमांदगी का शिकार दीगर तबक़ात से किए हुए वादों को यक़ीनी बनाने का काम करेगी।

TOPPOPULARRECENT