Sunday , May 27 2018

टी आर एस मर्कज़ी हुकूमत के साथ दोस्ताना ताल्लुक़ात की ख़ाहां

तेलंगाना राष़्ट्रा समीती मुल्क के होने वाले वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी और मर्कज़ में बी जे पी ज़ेर क़ियादत एन डी ए के साथ दोस्ताना बेहतर और सहतमनदाना ताल्लुक़ात रखना चाहती है और वो साथ ही आंध्र प्रदेश रियासत से भी कोई तसादुम वाला रवैय्

तेलंगाना राष़्ट्रा समीती मुल्क के होने वाले वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी और मर्कज़ में बी जे पी ज़ेर क़ियादत एन डी ए के साथ दोस्ताना बेहतर और सहतमनदाना ताल्लुक़ात रखना चाहती है और वो साथ ही आंध्र प्रदेश रियासत से भी कोई तसादुम वाला रवैय्या इख़तियार नहीं करेगी ताहम पार्टी तेलंगाना के हुक़ूक़ हासिल करने हर मुम्किन जद्द-ओ-जहद करेगी।

पार्टी के रुकने असेंबली-ओ-सदर टी आर एस के चन्द्र शेखर राव‌ के फ़र्ज़ंद के टी रामा राव‌ ने ये बात बताई। के टी रामा राव‌ ने कहा कि उनकी पार्टी की हुकूमत मर्कज़ के साथ अच्छे और सहतमनदाना ताल्लुक़ात बनाने की अपने तौर पर हर मुम्किन कोशिश करेगी और इस उम्मीद का इज़हार किया कि मर्कज़ी हुकूमत भी नई तशकील पाने वाली रियासत तेलंगाना की मदद करेगी।

के टी रामा राव‌ ने पी टी आई को एक इंटरव्यू देते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी ने कल के चन्द्र शेखर राव‌ को फ़ोन किया और तेलंगाना में उनकी कामयाबी पर मुबारकबाद देने के अलावा अपनी हलफ़ बर्दारी तक़रीब के लिए के सी आर को मदऊ किया है।

के टी आर ने कहा कि हम तक़रीब हलफ़ बर्दारी में शिरकत करने या ना करने के ताल्लुक़ से ग़ौर कर रहे हैं। उन्होंने ताहम वाज़िह किया कि हम यक़ीनी तौर पर नए वज़ीर-ए-आज़म से दोस्ती रखना चाहेंगे और उनकी टीम से भी ताल्लुक़ात रखेंगे और उनके साथ आइन्दा पाँच साल तक मिल कर काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि हमारे नज़रियाती और सियासी इख़तिलाफ़ात चाहे कुछ भी हूँ अब वक़्त हैके हम एक साथ होजाएं क्युंकि बिलआख़िर अवाम ने उन्हें और हमें भी वोट दिया है।

एसे में अब साथ मिल कर काम करने का वक़्त है। टी आर एस ने तेलंगाना में अपने बलबूते पर चुनाव लड़े थे और उसे 63 नशिस्तों पर कामयाबी हासिल हुई है।

इस ने लोक सभा की ग्यारह नशिस्तें भी हासिल की हैं। इस सवाल पर कि आया टी आर एस मर्कज़ी हुकूमत को मसाइल पर मबनी ताईद फ़राहम करेगी के टी आर ने कहा कि वो एसा कुछ नहीं कह रहे हैं।

वो जो कुछ कह रहे हैंके हम मर्कज़ी हुकूमत के मददगार रहेंगे और उम्मीद करते हैंके मर्कज़ी हुकूमत भी नई तशकील पाने वाली रियासत की मदद करेगी।

वो सियासी ताईद की बात नहीं कर रहे हैं। वो अख़लाक़ी ताईद की बात नहीं कर रहे हैं। वो सिर्फ़ इतना कह रहे हैंके आप को किस तरह काम करना चाहीए और मर्कज़ी हुकूमत को किस तरह रियासत के साथ बेहतर ताल्लुक़ात रखने चाहिऐं।

उन्होंने कहा कि वो सिर्फ़ इतना कह रहे हैंके हमें एक दूसरे की सहतमनदाना इज़्ज़त करनी चाहीए क्युंकि हम मुल्क के अवाम के मुंतख़ब करदा हैं। एसे में हम को मिल कर काम करने की ज़रूरत है। हमारे पास इस के अलावा कोई रास्ता नहीं है क्युंकि अवाम ने उस की ताईद की है। उन्होंने कहा कि टी आर एस की हुकूमत ना सिर्फ़ तेलंगाना के लिए एक पैकेज का मर्कज़ से मुतालिबा करेगी बल्कि रियासत के लिए सीमांध्र की तर्ज़ पर ख़ुसूसी मौक़िफ़ का भी मुतालिबा किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT